कोरोना से मौतों के बाद मारुति सुजुकी के सभी प्लांटों में शट डाउन, टाटा में एक की मौत

बाइक प्लांट में छुट्टी के बाद दोनों कार व इंजन प्लांट भी होगा बंद

फैलते कोरोना संक्रमण और कई मज़दूरों की मौत के बाद मारुति सुजुकी ने गुड़गांव-मनेसर स्थित अपने तीनों प्लांटों (मारुति सुजुकी गुड़गांव, मारुति सुजुकी मनेसर व सुजुकी पॉवर ट्रेन) में एक से नौ मई तक शट डाउन घोषित किया है। सुजुकी बाइक प्लांट में 28 अप्रैल से 1 मई तक छुट्टी हो चुकी है। उधर टाटा मोटर्स में एक स्थाई मज़दूर की मौत हो गई है।

देश की अग्रणी वाहन निर्माता कंपनी मारुति की इस घोषणा के बाद मारुति सुजुकी की वेंडर कंपनियों में भी शट डाउन होने लगा है। मारुति की वेंडर कंपनी बेलसोनिका में भी एक मई से नौ मई के बीच शटडाउन घोषित हो गया है।

इससे पूर्व गुड़गांव क्षेत्र में हीरो कंपनी मानेसर औद्योगिक क्षेत्र में सुजुकी बाइक प्लांट में अवकाश घोषित हुआ। हीरो मोटोकॉर्प ने 22 अप्रैल से 1 मई तक आपने सभी प्लांट और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट बंद की हैं। सुजुकी बाइक में 28 अप्रैल से 1 मई तक सभी कर्मचारियों की छुट्टी है।

मारुति में जून का शट डाउन अभी समायोजित

मारुति में इस दौरान कार्य अनुसार कुछ मज़दूरों को उनकी स्वय की इच्छा से बुलाया जाएगा। इस दौरान सुरक्षा एवं देखभाल के लिए सुविधाओ का चालू रखा जाएगा। काम करने वाले कैजुअल, ट्रेनी, अप्रेंटिस, अस्थाई श्रमिकों के खाने, नास्ता और इलाज की व्यवस्था कंपनी में ही होगी।

मारुति के सभी प्लांटों की यूनियों के संयुक्त मंच मारुति सुजुकी मज़दूर संघ (एमएसएमएस) ने एक बयान जारी कर कहा है कि यूनियनों ने प्रबंधन को इन विषम परिस्थितियों के प्रति अगाह किया और लगातार वार्ता के बाद मज़दूरों की सुरक्षा की खातिर जून में होने वाले शटडाउन को प्रीपोन यानी पहले करने का निर्णय लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि बीते दो सप्ताह के अंदर मारुति मानेसर के 7 मजदूरों और स्टाफ़ की कोरोना वायरस से मृत्यु हो चुकी है। कई मज़दूर संक्रमित हो चुके हैं कुछ गंभीर रूप से बीमार हैं।

टाटा मोटर्स में 4 दिन अवकाश, एक श्रमिक की मौत

टाटा मोटर्स लिमिटेड, पंतनगर (उत्तराखंड) में एक स्थाई श्रमिक सन्दीप ध्यानी उम्र 37 वर्ष की बीते मंगलवार को मौत हो गई। वे कोविड़ पॉजिटिव आने पर सुशीला तिवारी अस्पताल, हल्द्वानी में भर्ती थे।

ज्ञात हो कि फैलते संक्रमण के बीच टाटा में 24 से 27 अप्रैल तक ब्लॉक क्लोजर के तहत प्लांट बंद रहा।

गाइड लाइन के बावजूद किसी का टेस्ट नहीं

इस बीच उत्तराखंड में सभी मज़दूरों के कोविड टेस्ट के लिए सशन द्वारा आदेश जारी किया जा रहा है, लेकिन किसी भी कंपनी ने मज़दूरों का टेस्ट नहीं कराया और निर्बाध रूप से उत्पादन जारी है। हालत ये हैं कि कोई मज़दूर संक्रमित मिलता है तो उसके अगल-बगल में काम करने वाले दो मज़दूरों को उनके घर पर आइसोलेट किया जा रहा है, बाकी मज़दूर काम में लगे हुए हैं।

मारुति सुजुकी मज़दूर संघ का बयान-

साथियों पिछले कुछ दिनों से हमारे मारुति परिवार में इस वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से हम सभी साथियों को कई दुखद संदेश मिल रहे हैं क्योंकि अब इस महामारी ने बहुत ही खतरनाक रूप ले लिया है, जिससे पूरा भारतवर्ष जूझ रहा है।

मेडिकल तंत्र इस दबाव के कारण असक्षम सा नजर आ रहा है। हॉस्पिटल्स में बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाइयां हर चीज की कमी दिखाई दे रही है, जिसकी वजह से प्रत्येक साथी में भय का माहौल बना हुआ है। ऐसे में इस कोविड-19 की शृंखला को तोड़ने का एकमात्र उपाय समाजिक दूरी या अपने अपने घरों में रहना ही है।

मारुति की तीनों यूनियनों ने लगातार प्रबंधन को इन विषम परिस्थितियों के प्रति सूचित करते हुए कुछ दिन के लिए उत्पादन रोकते हुए अपने साथियों की सुरक्षा का सुझाव दिया। काफी बातचीत करने के बाद इस कोविड 19 की चेन को तोड़ने के लिए और साथियों को सुरक्षित रखने के लिए जून में होने वाले हमारे शटडाउन को प्रीपोन यानी कि पहले करने का निर्णय लिया गया है।

इसके मद्देनजर 1 मई से 9 मई तक कंपनी का उत्पादन शट डाउन गतिविधियों के लिए रोक दिया जाएगा। इसमें कुछ साथियों को कार्य अनुसार लेकिन उनकी स्वय की इच्छा से बुलाया जाएगा।

सुविधाएं जो चालू रहेंगी

इस दौरान साथियों की सुरक्षा एवं देखभाल के लिए निम्न सुविधाओ का चालू रखा जाएगा-

मारुति संघ ने कहा कि तीनों ही प्लांटों में कैंटीन और डिस्पेंसरी सुविधा पूर्ण रूप से चलती रहेगी और प्लाट के आसपास रहने वाले कैजुअल, टीडब्ल्यू, अपरेंटिस और स्टूडेंट ट्रेनिंग साथी के लिए लंच और डिनर की सुविधा भी जारी रहेगी। प्लांट में डिस्पेंसरी और अतिरिक्त एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध रहेगी।

संघ ने कहा कि इन 9 दिनों का का सदुपयोग आप अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए जरूर करें और कंपनी प्रबंधन भी इस समय में आने वाले समय की गंभीरता को समझते हुए अपनी मेडिकल सुविधाओं को और मजबूत करने और अपने सभी साथियों की सुरक्षा को और मजबूत करने में करेगी।

मारुति संघ ने बताया कि अभी तक 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन जरूरतमंद साथियों को उपलब्ध करवाई हैं और जल्द ही 28 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन और उपलब्ध हो जाएंगे।                          

मारुति सुजुकी मजदूर संघ मज़दूर साथियों से अपील की है कि इन दिनों को अवकाश न समझते हुए पूरी ईमानदारी से इन दिनों का इस्तेमाल घर पर रहते हुए और सुरक्षा के सभी नियमों को अपनाते हुए कोविड-19 की चेन को तोड़ने के लिए ही करें।

सुजुकी बाइक में मज़दूर कि मौत के बाद शटडाउन

इससे पूर्व हीरो कंपनी के बाद गुड़गांव मानेसर औद्योगिक क्षेत्र में सुजुकी बाइक ने अपने प्लांट में शटडाउन घोषित कर दिया। 27 अप्रैल को कंपनी की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि कर्मचारियों को सूचित किया जाता है कि कंपनी की उत्पादन व्यवस्था वह सामाजिक व्यवस्था के मद्देनजर 28 अप्रैल से लेकर 1 मई तक सभी कर्मचारियों की छुट्टी रहेगी।

नोटिस के अनुसार इस अवकाश के एवज में भविष्य में कंपनी द्वारा आंतरिक वार्षिक कैलेंडर यानी हॉलीडे कैलेंडर 2021-2022 के अनुसार अन्य किसी गैर कार्य दिवसों पर ड्यूटी ली जाएगी।

उल्लेखनीय है कि सुज़ुकी बाइक में एक स्थाई श्रमिक की कोरोना से मौत हो गई थी, जबकि एक मज़दूर की हालत गंभीर है और कई अन्य लोग बीमार हैं।

Suzuki bike shutdown notice

सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया एम्प्लॉइज यूनियन का बयान

सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया एम्प्लॉइज यूनियन जारी एक बयान में कहा कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए आपके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए हुए सुजुकी बाइक प्लांट परिसर में दिनांक 28/4/2021 से 1/5/2021 तक कंपनी में छुट्टी रहेगी ।

यूनियन सभी साथियों से अनुरोध के साथ कहा कि कोई भी साथी बिना वजह घर से बाहर न निकले और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में यात्रा न करे भीड़ भाड़ के स्थानों से बचे और अपना व अपने परिवार के स्वास्थ्य का ध्यान रखे कोरोना नियमो की गाइड लाइन का पालन करे।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: