अभी अभी

इसे पढ़े

संघर्षरत मज़दूर

श्रमकानून

नए लेबर कोड : मनमर्जी काम पर रखने निकालने की खुली छूट; क़ानूनी संघर्ष के रास्ते सीमित!

हैदराबाद कन्वेंशन में पैदा हुई नई ऊर्जा; 13 नवंबर को दिल्ली में एकजुट प्रदर्शन का आह्वान

मोदी सरकार की मालिकों पर एक और कृपा; दुर्घटना पर मालिकों को दंडात्मक कार्यवाही से राहत

कोलकाता कन्वेंशन का आह्वान- लेबर कोड्स को रद्द कराने 13 नवंबर को दिल्ली चलो!

बड़ी जीत: आईटी सेक्टर के कर्मचारी भी औद्योगिक विवाद अधिनियम 1947 के तहत कर्मकार -लेबर कोर्ट

विशेष

जन्मदिवस 11 अगस्त: आजादी के आंदोलन के युवा शहीद खुदीराम बोस को याद करते हुए

खुदीराम बोस का बलिदान उन अनगिनत शहादतों में है जो अंग्रेजी हुकूमत के लिए बड़ी चुनौती बनी। उनकी शहादत हमेशा ही न्याय और मुक्ति के...

नए लेबर कोड : मनमर्जी काम पर रखने निकालने की खुली छूट; क़ानूनी संघर्ष के रास्ते सीमित!

एमएसके की कार्यशाला में श्रम संहिताओं के विविध पहलुओं पर गहराई से चर्चा-मंथन के साथ मज़दूर विरोधी संहिताएं रद्द कराने हेतु 13 नवम्बर को दिल्ली...

जरा चश्मा उतारो, फिर देखो यारों!

उत्तरप्रदेश, जहाँ बेरोजगारी चरम पर है, शिक्षा-इलाज तक दुर्दशा में है, वहाँ नागरिक चेतन गायब है। ट्रेन या बस में सफर करते वक़्त भी महसूस...

सिर्फ स्थाई मज़दूरों का वेतन समझौता क्यों? आख़िर कब तक!

प्लांट स्तर की गतिविधि से आगे बढ़कर अगर स्थाई मज़दूर व यूनियन इलाके के ठेका मज़दूरों के मुद्दे पर संघर्ष करते हुए इलाकाई स्तर पर...

निजीकरण में कल्याणकारी राज्य कहां हैं?

निजीकरण तथा सार्वजनिक क्षेत्र की परिसंपत्तियों के मुद्रीकरण के अपने एजेंडे के साथ मोदी सरकार, संविधान में ऐसा ही मौलिक बदलाव करने में लगी है।...

यह ज़ुल्मतों का दौर है भाई!

जनविरोधी नीतियों से देश के बिगड़ते हालात, पूँजीपतियों को सौगात और आम जनता की तेजी से बढ़ती तबाही के बीच मोदी सरकार का दमन तंत्र...

यूट्यूब चैनल

भूली-बिसरी ख़बरे