केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, एक मजदूर की मौत, गुस्से में लोगों ने लगाया जाम

फ़ैक्ट्री में सुरक्षा में बेहद लापरवाही

भोजपुर थानाक्षेत्र के गांव ईशापुर के निकट एक केमिकल फैक्ट्री में मंगलवार शाम संदिग्ध परिस्थितियों में आग लग गई। अग्निशमन विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया। हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई। मुआवजे की मांग को लेकर शाम के समय स्वजन ने फैक्ट्री गेट पर हंगामा किया। हापुड़ रोड भी जाम कर दिया। पुलिस ने किसी तरह समझा-बुझाकर उन्हें सड़क से हटाया।

केमिकल फैक्ट्री में आग से भगदड़ मच गई। सूचना पुलिस को दी गई। थोड़ी ही देर में पुलिस व अग्निशमन विभाग की टीम वहां पहुंच गई। आग पर काबू पाने के लिए आपेरशन शुरू किया। एक के बाद एक कई अग्निशमन वाहन फैक्ट्री पहुंचे। दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। इस बीच झुलसी हालत में एक मजदूर विनोद को भी वहां से निकाला। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत की सूचना पर मृतक के स्वजन फैक्ट्री पहुंच गए। उन्होंने आरोप लगाया कि फैक्ट्री में सुरक्षा के इंतजाम नहीं थे। इसलिए उनके बेटे की मौत हुई है। उन्होंने मुआवजे की मांग को लेकर हापुड़ रोड को जाम कर दिया। इस बीच पुलिस ने उन्हें शांत किया।

कार्यवाहक एसएचओ भोजपुर शैलेंद्र सिंह ने बताया कि सूचना मिलते ही टीम के साथ फैक्ट्री पहुंच गए थे। मामले में पुलिस को कोई तहरीर भी नहीं मिली है। मृतक मजदूर विनोद तलहैटा निवासी हैं। वहीं, मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि समय रहते आग पर काबू पा लिया गया था। फिलहाल, आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। फैक्ट्री में कुछ ज्वलनशील पदार्थ के टैंकर भी खड़े थे, गनीमत रही कि वहां तक आग नहीं पहुंची, वरना बड़ा हादसा हो सकता था। सबमर्सिबल पाइप लेकर आग बुझाने लगे थाना प्रभारी

अग्निश्मन टीम के पहुंचने से पहले ही भोजपुर पुलिस फैक्ट्री पहुंच गई थी। ऐसे में स्थिति को देखते हुए खुद थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह सबमर्सिबल का पाइप लेकर आग बुझाने लगे। फैक्ट्री कर्मियों की मदद से उन्होंने आग पर हद तक काबू भी पा लिया।

जागरण से साभार

%d bloggers like this: