महामारी के बीच मोर्चा की सलाह पर माइक्रोमैक्स व वोल्टास श्रमिकों का धरना स्थगित

श्रमिक संयुक्त मोर्चा ने डीएम को भेजा पत्र, कार्यबहाली की माँग

रुद्रपुर, (उत्तराखंड) 11 मई। कोविड-19 आपदा के विकट संकट के दौर में श्रमिक संयुक्त मोर्चा की सलाह पर भगवती-माइक्रोमैक्स और वोल्टास श्रमिकों का धरना स्थिति सामान्य होने तक स्थगित हो गया है। मोर्चा ने डीएम को पत्र देकर श्रमिकों की कार्यबहाली की माँग की और कहा कि यदि समाधान नहीं निकलता है तो मोर्चा आंदोलन पुनः तेज करेगा।

दरअसल एक तरफ कोविड-19 की विकट स्थितियां, दूसरी ओर भगवती-माइक्रोमैक्स और वोल्टास मजदूरों की कार्यबहाली ना होने से एक कठिन स्थिति बनी हुई है। फैलते संक्रमण को देखते हुए श्रमिक संयुक्त मोर्चा ने 29 महीने से संघर्षरत भगवती माइक्रोमैक्स और 19 महीने से संघर्षरत वोल्टास के श्रमिकों से फिलहाल की स्थिति में धरना स्थगित करने की सलाह दी।

काफी विचार-विमर्श के बाद दोनों कंपनियों के धरना को स्थिति सामान्य होने तक स्थगित करने का निर्णय बना। जिसकी सूचना मोर्चा ने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और उप श्रम आयुक्त को दे दी है।

मोर्चा अध्यक्ष दिनेश तिवारी ने कहा कि लंबे समय से बगैर वेतन श्रमिकों की स्थिति लगातार दयनीय हो चुकी है और कई श्रमिक भुखमरी के कगार पर हैं। प्रशासन मज़दूरों की कोई सुध नहीं ले रहा है। वर्तमान स्थिति को देखते हुए श्रमिक संयुक्त मोर्चा की पहल पर जनहित व श्रमिक हित में फिलहाल दोनो कंपनियों के धरना को स्थिति सामान्य होने तक स्थगित किया गया है। यदि समाधान नहीं निकलता है तो मोर्चा अपने स्तर पर आंदोलन पुनः तेज करेगा।

मोर्चा महासचिव चंद्र मोहन लखेडा ने बताया कि मोर्चा ने जिलाधिकारी को पत्र देकर माइक्रोमैक्स और वोल्टास श्रमिकों के विवादों के समाधान के लिए अपने स्तर पर पहल लेने और समस्त श्रमिकों की सवेतन कार्यबहाली की माँग की है। कहा कि यह समय सबको मिलकर सुरक्षित करना और कोविड-19 के जंग को जीतने का है। साथ ही मज़दूरों को न्याय दिलाने का भी है।

भगवती श्रमिक संगठन के दीपक सनवाल ने कहा कि माइक्रोमैक्स उत्पाद बनाने वाली भगवती प्रोडक्ट लिमिटेड सिडकुल पंतनगर में 303 श्रमिकों की छँटनी को माननीय औद्योगिक न्यायाधिकरण द्वारा अवैध घोषित करने और माननीय उच्च न्यायालय द्वारा उक्त फैसले के अनुपालन की पुष्टि के बावजूद कार्यबहाली नहीं होने से विगत 29 माह से कंपनी गेट पर लगातार धरना जारी है। फिलहाल मोर्चा की सलाह मानते हुए कुछ दिनों के लिए धरना स्थगित हुआ है। लेकिन अन्य तरीके से हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

वोल्टास इम्पलाइज यूनियन के अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि वोल्टास लिमिटेड, सिडकुल, पंतनगर में महज माँगपत्र देने पर गैरकानूनी रूप से 9 श्रमिकों की गेटबंदी हुई। कार्यबहाली के लिए पिछले 19 माह से श्रमिकों का संघर्ष और कंपनी गेट पर धरना जारी रहा।

दिनेश पंत ने कहा कि मोर्चा की पहल पर 22 अप्रैल से प्रतिदिन अलग-अलग यूनियनें वोल्टास श्रमिकों के समर्थन में क्रमिक अनशन चला रही थीं। इस दौरान पुलिस का दमन भी चलता रहा, लेकिन आंदोलन जारी रहा। अभी हमने धरना स्थगित किया है, लेकिन संघर्ष जारी रहेगा।

ठाकुर सिंह ने कहा कि संघर्ष जारी है, हम कोविड का जंग भी जीतेंगे और मज़दूरों की कार्यबहाली का जंग भी जीतेंगे।

%d bloggers like this: