वोल्टास मज़दूरों को डराती पुलिस, FIR के बावजूद गुजरात अंबुजा प्रबंधन की गिरफ़्तारी नहीं

वोल्टास मज़दूरों के समर्थन में नेस्ले की यूनियनों का अनशन

पंतनगर (उत्तराखंड), 24 अप्रैल। कार्यबहाली के लिए संघर्षरत वोल्टास मज़दूरों को उठाने और धमकाने के लिए फिर पुलिस पहुंची, जिससे मज़दूरों मे आक्रोश है। उधर नेस्ले कर्मचारी संगठन और नेस्ले मज़दूर संघ के साथी क्रमिक अनशन पर बैठे। श्रमिक संयुक्त मोर्चा द्वारा समर्थन में तीसरे दिन भी क्रमिक अनशन जारी रहा।

धरना स्थल पर पहुँची पुलिस मज़दूरों को धरना उठाने नहीं तो मुकदमा ठोंकने की धमकी दी। मज़दूरों ने इसका प्रतिवाद किया और कहा कि कोर्ट के आदेश पर पीएफ व ईएसआई घोटाले का मुकदमा दर्ज होने के बावजूद गुजरात अंबुजा के प्रबंधन को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही है, कोर्ट के आदेश के बावजूद माइक्रोमैक्स मज़दूरों की बहाली नहीं करा रही। जबकि शांतिपूर्ण धरने पर बैठे मज़दूरों को परेशान कर रही है।

इस कार्यवाही की मज़दूरों ने कड़ी निंदा की और कहा कि यदि पुलिस ने मज़दूरों का दमन किया तो पूरे सिडकुल के मज़दूरों में असंतोष भड़केगा, जिसका ज़िम्मेदार प्रशासन होगा।

श्रमिक संयुक्त मोर्चा के महासचिव चंद्र मोहन लखेडा ने कहा कि मोर्चा ने 23 अप्रैल को जिलाधिकारी से मिलने का प्रयास किया लेकिन कार्यालयों बंदी और सैनिटाइजेशन के कारण मुलाकात नहीं हुई। उन्होंने कहा कि जो भी आवश्यक कार्य है प्रशासन उसे कर रहा है, लेकिन यह क्षोभ का विषय है कि पिछले डेढ़ साल से संघर्षरत वोल्टास मज़दूरों की समस्याएं प्रशासन के लिए प्राथमिक नहीं है।

नेस्ले मज़दूर संघ के महामंत्री निर्मल पाठक ने कहा कि मज़दूरों को न्याय दिलाने के लिए अब पूरे सिडकुल क्षेत्र की यूनियनें एकजुट हो रही हैं और वोल्टास मज़दूरों की कार्यबहाली का संघर्ष तेज हो गया है। उन्होंने वोल्टास प्रबंधन और जिला प्रशासन से गैरकानूनी रूप से गेट बंदी के शिकार वोल्टास के 9 मज़दूरों की कार्यबहाली की माँग की।

आज क्रमिक अनशन पर नेस्ले मज़दूर संघ के महामंत्री निर्मल पाठक तथा नेस्ले कर्मचारी संगठन के चंद्र मोहन लखेड़ा व महेंद्र सिंह राणा बैठे। साथ ही वोल्टास इंप्लाइज यूनियन के महामंत्री दिनेश पंत तथा राकेश कुमार जोशी भी अनशन पर रहे। इस दौरान नेस्ले के मज़दूर साथी समर्थन में अपनी शिफ्ट के साथ वोल्टास कंपनी गेट पहुंचे और दोनों यूनियनों की ओर से कार्यबहाली के लिए प्रबंधन को ज्ञापन दिया।

इससे पूर्व 23 अप्रैल को थाई सुमित नील ऑटो कामगार संगठन के कोषाध्यक्ष मोर्चा उपाध्यक्ष संजय कुमार यादव व जगदीश चंद शर्मा वोल्टास धरना स्थल पर क्रमिक अनशन पर बैठे। पहले दिन 22 अप्रैल को श्रमिक संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष दिनेश तिवारी के नेतृत्व में राने मद्रास के साथी क्रमिक अनशन पर रहे।

वोल्टास इंप्लाइज यूनियन के महामंत्री दिनेश चंद्र पंत ने कहा कि श्रमिक संयुक्त मोर्चा ने हमारे आंदोलन को जो मजबूती दी है उसके लिए मोर्चा और उससे जुड़ी सभी यूनियनों को हम धन्यवाद देना चाहते हैं और हौसले के साथ कार्य बहाली होने तक हमारा यह आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि सोमवार को बजाज मोटर्स कर्मकार यूनियन के साथी क्रमिक अनशन पर बैठेंगे।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: