अमेरिका: बाल्टीमोर ब्रिज ढहने के दौरान पुल पर कार्यरत लापता छह श्रमिक मृत माने गए

948 फुट का जहाज मैरीलैंड में फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज के एक पिलर से टकरा गया था, जिससे ब्रिज ढह गया और पटाप्सको नदी में समा गया। इस हादसे के बाद 8 लोग लापता बताए गए थे।

अमेरिका के बाल्टीमोर हार्बर इलाके में हुए दर्दनाक हादसे में 6 मजदूरों की मौत की आशंका जताई जा रही है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, बाल्टीमोर में जहाज की टक्कर से पुल ढहने से हुए हादसे में आशंका है कि 6 मजदूर पुल से नीचे गिर गए, जिसकी वजह से उनकी जान चली गई।

रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी तटरक्षक बल ने कहा है कि लापता हुए छह लोगों को अब मृत मान लिया गया है और जीवित बचे लोगों की तलाश रोक दी गई है। एनबीसी न्यूज के मुताबिक, ये छह लोग पुल पर काम कर रहे थे। उनके नाम जारी नहीं किए गए हैं।

मैरीलैंड स्टेट पुलिस के अधीक्षक रोलैंड एल. बटलर जूनियर ने कहा कि समय बीतने का साथ खोज बचाव मिशन और रिकवरी प्रक्रिया काफी चुनौतीपूर्ण हो गई है।

मालवाहक जहाज ब्रिज के मुख्य पिलर से टकराई

मंगलवार (26 मार्च) को सिंगापुर का झंडा लगा 948 फुट का जहाज मैरीलैंड में फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज के एक खंबे (पिलर) से टकरा गया था, जिससे ब्रिज ढह गया। इस हादसे के बाद वहाँ 8 लोग लापता बताए गए थे। जिनमें दो को जिंदा बचाने का दावा किया गया था।

खबर के मुताबिक समानों से लदा यह बड़ा कार्गो शिप जब अमेरिका के मैरीलैंड के बाल्टीमोर नदी में आगे बढ़ रहा था तभी जहाज अचानक स्टील आर्च फ्रांसिस स्कॉट ब्रिज के मुख्य खंबे से टकरा गया और देखते ही देखते पुल पटाप्सको नदी में समा गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुल पर जा रही कई गाड़ियां नदी में गिर गई थीं। बाल्टीमोर पुलिस के अनुसार, घटना स्थानीय समयानुसार देर रात 1:35 बजे हुई। सोशल मीडिया पर साझा किए गए वीडियो में टक्कर के बाद कई वाहन नदी में गिरते हुए दिखाई दे रहे हैं।

चालक दल (क्रू) के सभी 22 सदस्य भारतीय

घटना के बाद सिनर्जी मरीन ग्रुप ने पुष्टि की कि उसका सिंगापुर-ध्वज वाला जहाज डाली, जिसमें दो पायलट सवार थे, पुल के एक खंभे से टकरा गया था। सिनर्जी मरीन ग्रुप द्वारा दी गई जहाज की जानकारी के अनुसार, चालक दल (क्रू) में कुल मिलाकर 22 लोग थे और जो सभी भारतीय थे।

सिनर्जी के एक बयान में कहा गया है कि जहाज पर कोई चोट नहीं आई है और घटना का कारण अभी तक पता नहीं किया जा सका है।

डेनिश शिपिंग कंपनी मैरस्क ने बाद में घोषणा की थी कि उसने डाली जहाज को किराए पर लिया है। अधिकारियों ने कहा कि वे अभी भी घटना के कारण की जांच कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने आतंकवाद संबंधी संभावना से इनकार किया है।

जांच के आदेश जारी

1977 में पूरा हुआ 1.6-मील (2.57 किलोमीटर) लंबा पुल अमेरिका के पूर्वी तट पर दक्षिणी बाल्टीमोर में एक व्यस्त बंदरगाह के प्रवेश द्वार पर पटाप्सको नदी के एक विस्तृत खंड तक फैला हुआ है।

मैरीलैंड के गवर्नर वेस मूर ने एक मीडिया ब्रीफिंग में बताया कि जहाज के प्रमुख बाल्टीमोर पुल से टकराने के कारण की जांच चल रही है, जहाज संरचना से टकराने से पहले बिजली बंद हो गई दी थी। मूर ने कहा कि जहाज संचालकों ने टक्कर से पहले ही चेतावनी जारी किया था।

मूर ने कहा कि यह आठ समुद्री मील (9 मील प्रति घंटे) की गति से आगे बढ़ रहा था, जिससे अधिकारियों को सतर्क कर दिया गया कि इसकी बिजली बंद हो गई है, जिससे अधिकारियों को दुर्घटना से पहले पुल पर यातायात सीमित करना पड़ा।

मूर ने कहा, ‘मैं उन लोगों का आभारी हूं, जिन्होंने चेतावनी दी और सूचना दी- जिससे कारों को पुल पर आने से रोका जा सका। ये लोग नायक हैं, उन्होंने उस रात लोगों की जान बचाई।’

About Post Author