अटलांटा में हुई गोलीबारी में 8 लोगों की मौत

एशिया-विरोधी भेदभाव का संदेह

अमेरिका के अटलांटा और इससे सटे उनगर जॉर्जिया में मंगलवार 16 मार्च को तीन स्थानों पर गोलीबारी हुईं। माना जा रहा है कि इन हमलों को एक ही शख्स ने अंजाम दिया है। इन हमलों में आठ लोगों की मौत हो गई वहीं एक व्यक्ति घायल है। 21 वर्षीय संदिग्ध शख्स का नाम रॉबर्ट आरोन लॉन्ग है। इसे दक्षिण-पश्चिम जॉर्जिया में घंटों की तलाशी के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

ये तीनों हमले मसाज पार्लरों में हुए। इनमें दो पार्लर शहर में हैं जबकि एक एकवर्थ उपनगर में है जिसने एशियाई अमेरिकी मूल की महिला कर्मचारियों को भर्ती किया था। दक्षिण कोरियाई विदेश मंत्रालय ने पुष्टि की कि पीड़ितों में से कम से कम चार कोरियाई मूल के थे, जबकि अटलांटा के स्थानीय अधिकारियों ने मारे गए कर्मचारियों के देश और उनके मूल स्थान के बारे में जानकारी अभी नहीं दी है।

लॉन्ग को एक्वर्थ गोलीबारी के मामले में गिरफ्तार किया गया और पुलिस द्वारा जांच की जा रही सर्विलांस कैमरे के सबूतों के अनुसार उस पर शहर में दो जगह गोलीबारी करने का संदेह है। मानवाधिकार और घृणा-विरोधी अपराधों के लिए मुखर रहने वाले समूह इन हत्याओं को अमेरिका भर में एशियाई-अमेरिकी हिंसा की बढ़ती घटना से जोड़ कर देख रहे हैं।

एशियाई-अमेरिकी व्यक्तियों के खिलाफ हिंसा पर नज़र रखने वाले ‘स्टॉप एएपीआई हेट’ के अनुसार मार्च 2020 और फरवरी 2021 के बीच अमेरिका भर में कम से कम 3,795 “घृणा वाली घटनाएं” हुई हैं।

एक ट्वीट में अटलांटा स्थित एशियन अमेरिकन एडवांसिंग जस्टिस समूह ने लिखा कि वे “इस हिंसा से विचलित हो गए हैं।” इस समूह ने कहा कि यह अभी इन घटनाओं के बारे में जानकारी इकट्ठा कर रहे है और इस त्रासदी से प्रभावित लोगों के परिवारों को अपनी मदद पहुंचाने की बात कही है।

अमेरिका में COVID-19 महामारी के प्रकोप के बाद घृणा वाले अपराध तेजी से बढ़े हैं। तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सहित दक्षिणपंथी नेताओं ने अमेरिका में चीन और एशियाई-अमेरिकी समुदाय को निशाना बनाने के लिए निराधार षड्यंत्र और नस्लीय भाषा का इस्तेमाल किया।

न्यूजक्लिक से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: