झारखंड में फिर मॉब लिंचिंग, गोकशी के शक में 3 लोगों की ​लिंचिंग, एक की मौत

पुलिस नहीं पहुंचती तो नहीं बचती दो अन्य लोगों की जान

मॉब लिंचिंग में बुरी तरह घायल फागु कच्छप ने कहा ग्रामीणों ने मात्र अफवाह के आधार पर हम लोगों को बनाया निशाना, हम पर उस वक्त जानलेवा हमला कर दिया, जब हम ले जा रहे थे गोवंश को बांधने के लिए, मौके पर पुलिस नहीं पहुंची होती तो हम तीनों में से नहीं बच पाता एक भी….

झारखंड और मॉब लिंचिंग एक दूसरे का पर्याय बनते जा रहे हैं। कभी गोकशी तो कभी बच्चा चोरी तो किसी औरत को डायन के नाम पर भीड़ द्वारा मारने की घटनायें वहां आम हो गयी हैं। पिछले दिनों नृशंसता से की गई तबरेज मॉब लिंचिंग को लोग भूले भी नहीं होंगे कि फिर 3 लोगों की लिंचिंग का मामला यहां सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक झारखंड के खूंटी में तीन लोगों पर ग्रामीणों को शक था कि वो गोकशी के लिए गोवंश को नदी किनारे ले जा रहे थे। इसी आधार पर कल 22 सितंबर की सुबह लगभग 10 बजे उन तीनों की भीड़ ने जमकर पिटाई कर दी। इस घटना में एक शख्स कलंतुस बारला की मौत हो गई है।

खूंटी के कर्रा थाना क्षेत्र के जलटंडा सुआरी गांव के ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें खबर मिली थी कि नदी किनारे गोकशी की जा रही है। यह अफवाह पूरे इलाके में आग की तरह फैल गयी और वहां मौजूद 3 लोगों को उन्होंने जमकर पीटा। ग्रामीणों का आरोप है कि उन तीनों ने वहां गोकशी की, इसलिए गुस्साये ग्रामीणों ने उन पर हमला किया।

वहीं इस मामले में पुलिस को दिये बयान में गंभीर रूप से घायल फागु कच्छप ने बताया कि ग्रामीणों ने मात्र अफवाह के आधार पर हम लोगों पर हमला किया। गांव वालों ने उस वक्त हम पर जानलेवा हमला कर दिया, जब हम अपने गोवंश को बांधने के लिए ले जा रहे थे। अचानक ग्रामीणों के झुंड ने हम पर हमला कर दिया। अगर मौके पर पुलिस नहीं पहुंची होती तो हम तीनों में से एक भी नहीं बच पाता।

डीआईजी वेणुगोपाल होमकर के मुताबिक ‘कल रविवार 22 सितंबर की सुबह 10 बजे कर्रा पुलिस स्टेशन के प्रभारी को कुछ ग्रामीणों ने जानकारी दी थी कि कुछ लोग प्रतिबंधित मांस बेच रहे हैं और ग्रामीणों ने उन्हें पकड़ लिया है और उनकी पिटाई हो रही है। पुलिस जब वहां पहुंची तो तीन लोगों को ग्रामीण बुरी तरह पीट रहे थे। पिटाई के दौरान ही जहां एक शख्स की मौत हो गयी, वहीं दो लोगों को इलाज के लिए रांची के रिम्स भेज दिया गया है।’

मॉब लिंचिंग में मार दिये गये शख्स की पहचान नाम लापुंग थाना के गोपालपुर निवासी कलंतुस बारला के रूप में हुई है। वहीं लिंचिंग में गंभीर रूप से घायल हुए फिलीप होरो और फागु कच्छप स्थानीय कर्रा के रहने वाले हैं।

गोकशी के शक में की गई इस मॉब लिंचिंग में पुलिस ने 5 आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि हम संदिग्ध लोगों के घर छापे मार रहे हैं। पांच गिरफ्तार लोगों से पूछताछ की जा रही है और इसी के आधार पर अन्य आरोपी ग्रामीणों की गिरफ्तारी की जायेगी। पुलिस ने मॉब लिंचिंग के आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें गठित कर दी हैं।

गौरतलब है कि इसी साल 18 जून को झारखंड के सरायकेला-खरसावां में मोटरसाइकिल चोरी के आरोप में तबरेज अंसारी की मॉब लिंचिंग हुई थी, जिसमें इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी थी। पूना में वेल्डर का काम करने वाला तबरेज घटना के समय अपने गांव आया हुआ था।

( जनज्वार से साभार एवं संपादित )

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: