303 श्रमिकों की गैरकानूनी छँटनी के खिलाफ माइक्रोमैक्स मजदूरों का संघर्ष जारी

tgdtgdf

आज क्रमिक अनशन का 50 वां दिन तथा लगातार गेट पर धरने का 240 वां दिन रहा
★ बाकी श्रमिकों का गैरकानूनी ले-ऑफ भी बढ़ा
★ एएलसी की वार्ता में प्रबंधन रहा गायब

पंतनगर (उत्तराखंड)। भगवती प्रोडक्ट्स (माइक्रोमैक्स) के 303 श्रमिकों की छँटनी के खिलाफ मजदूरों का कंपनी गेट पर लगातार धरने का आज 240 वा दिन रहा, जबकि मजदूरों द्वारा चलाए जा रहे क्रमिक अनशन का आज 50 वां दिन था।

इस बीच प्रबंधन ने कंपनी के बाकी 47 श्रमिकों को गैरकानूनी ले-ऑफ पर बैठा दिया था। इस अवैध कार्यवाही के 1 माह पूरा होते ही प्रबंधन ने 15 दिन का बगैर अनुमति ले-ऑफ और बढ़ा दिया। जिसके खिलाफ 22 अगस्त को मजदूरों ने श्रम भवन पर प्रदर्शन कर विरोध प्रकट किया था।

आज उसी क्रम में सहायक श्रम आयुक्त ने वार्ता बुलाई थी, लेकिन कंपनी का प्रबंधन वार्ता में नहीं पहुंचा। इसपर श्रमिक पक्ष ने अपनी आपत्ति व नाराजगी जताई और कंपनी द्वारा बंदी करके राज्य से बाहर पलायन आदि पर अपनी बात रखी।

उधर एएलसी ने कंपनी द्वारा उच्च न्यायालय के रोक के बावजूद मशीनें आदि की शिफ्टिंग करने का संज्ञान लेकर उत्तर प्रदेश औद्योगिक विवाद नियमावली 1957 के नियम 4 के तहत नोटिस जारी कर दिए। जबकि उच्च न्यायालय नैनीताल और औद्योगिक न्यायाधिकरण हल्द्वानी में वाद जारी है।

इन सब के साथ माइक्रोमैक्स मजदूरों का जमीनी और कानूनी लड़ाई एक साथ चल रहा है और मजदूर हर हाल में अपनी कार्य बहाली के संघर्ष में पूरी मुस्तैदी से डटे हुए हैं।

ज्ञात हो कि विगत 27 दिसंबर 2018 को कंपनी प्रबंधन ने गैरकानूनी रूप से 303 श्रमिकों की छँटनी कर दी थी। भगवती श्रमिक संगठन के अध्यक्ष का नाम छँटनी की सूची में शामिल ना होने के बावजूद उनका भी गेट बंद कर दिया था। और अब ले-ऑफ के बहाने बाकी मजदूरों को भी बाहर बैठा दिया है।

कंपनी राज्य से प्राप्त सब्सिडी और टैक्स आदि को खाकर राज्य से बाहर पलायन की पूरी तैयारी में थी, लेकिन मज़दूरों के जज्बे ने उसके नापाक इरादों को अभी तक कामयाब नहीं होने दिया है।

Leave a Reply

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: