लक्सर टायर फैक्ट्री में छंटनी के खिलाफ आंदोलन; किसान यूनियन ने किया भूख हड़ताल का ऐलान

लक्सर: हरिद्वार के लक्सर में स्थित एक टायर फैक्ट्री से कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. फैक्ट्री से निकाले गए कर्मचारियों के समर्थन में भारतीय किसान यूनियन (पटेल) भी आंदोलन पर डटा हुआ है. अब किसान यूनियन ने कल यानी 8 जुलाई से भूख हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है. साथ ही आगामी 18 जुलाई से हजारों ट्रैक्टरों के साथ चक्का जाम करने की चेतावनी भी दी है.

भारतीय किसान यूनियन (पटेल) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और आंदोलन के संयोजक चौधरी कीरत सिंह ने कहा कि 1 जुलाई को महापंचायत हुई थी. जिसमें कई निर्णय लिए गए थे, उनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है. साथ ही कहा कि किसान, मजदूर, कर्मचारी और कांग्रेस समेत अन्य दलों से जुड़े लोग कर्मचारियों के समर्थन में 24 जून से लगातार फैक्ट्री गेट के बाहर आंदोलन पर डटे हैं.

चौधरी कीरत सिंह ने बताया कि उनके आंदोलन को नगर व्यापार मंडल, एडवोकेट एसोसिएशन समेत कई राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों का समर्थन मिल रहा है. बीती सोमवार को धरना स्थल पर एक सर्वदलीय महापंचायत बुलाई गई थी, जिसमें आंदोलन की अगली रणनीति तय की गई.

फैक्ट्री गेट पर आत्मदाह की चेतावनी देने वालों से कोई लेना-देना नहीं: चौधरी कीरत सिंह ने कहा कि फैक्ट्री के एक यूनियन नेता की ओर से 8 जुलाई को फैक्ट्री गेट पर आत्मदाह किए जाने को लेकर एक नोटिस सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसका आंदोलन से जुड़े संगठनों से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि आंदोलन से जुड़े दो कर्मचारियों ने भी 8 जुलाई को आत्मदाह किए जाने की घोषणा की थी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. महापंचायत में जो निर्णय लिए गए हैं, उसी के अनुसार आंदोलन चलेगा.

8 जुलाई से फैक्ट्री के मुख्य गेट पर शुरू होगी भूख हड़ताल: उन्होंने कहा कि कहा कि 8 जुलाई से फैक्ट्री के मुख्य गेट पर भूख हड़ताल शुरू की जाएगी. जबकि, 16 जुलाई को हजारों ट्रैक्टरों के साथ चक्का जाम किया जाएगा. यदि इसके बावजूद भी मामले का हल नहीं निकलता तो वो फैक्ट्री गेट पर आत्मदाह करने का प्रयास करेंगे.

भूली-बिसरी ख़बरे