रामनगर: सरकार को चेतावनी, अस्पताल में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हों वरना आंदोलन होगा तेज

बैठक में महिलाओं ने सरकार को चेतावनी दी कि जल्द ही मालधन अस्पताल में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराए जाने पर मालधन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

रामनगर (नैनीताल)। महिला एकता मंच द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मालधन में मानकों के अनुरूप चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराने की मांग को लेकर पिछले लंबे समय से जारी आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए पंचायत भवन मालधन नंबर 2 में एक बृहद बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक का संचालन करते हुए सरस्वती जोशी ने भाजपा सरकार व विपक्षी दल कांग्रेस पर मालधन  को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने 2011 में व वर्ष 2016 में कांग्रेस सरकार ने अपने नामों के पत्थर तो अस्पताल में लगा दिये परंतु जनता को इलाज उपलब्ध नहीं कराया। यही कारण है कि महिला एकता मंच को सड़कों पर आकर जनता के इलाज के लिए आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ा है।

भगवती ने कहा कि जनता के लंबे आंदोलन के बाद मालधन अस्पताल में कुछ स्वास्थ्य सेवाएं आंशिक रूप से जनता को मिलनी शुरू हुई है परंतु वह जनता की जरूरत के समक्ष नाकाफी है। उन्होंने कहा कि हमने बैठक में क्षेत्र के सभी जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया था परंतु रजनी को छोड़कर कोई भी बैठक में उपस्थित नहीं हुआ।

गीता आर्य ने कहा कि मालधन अस्पताल में 24 घंटे इमरजेंसी सुविधाएं, प्रसव सुविधाएं, बाल रोग विशेषज्ञ, सर्जन, निश्चेतक, एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड मशीन आदि सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के मानक हैं। इसको लेकर मालधन क्षेत्र की जनता 40 से भी अधिक शिकायतें मुख्यमंत्री पोर्टल पर दर्ज कर चुकी है। परंतु सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाली भाजपा सरकार ने मालधन क्षेत्र की जनता को इलाज के अभाव में मरने के लिए छोड़ दिया है।

बैठक में महिलाओं ने सरकार को चेतावनी दी कि जल्द ही मालधन अस्पताल में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराए जाने पर मालधन बाजार एवं शिक्षण संस्थाएं बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

बैठक में आगामी 28 जून, शुक्रवार को काले झंडे एवं काली पट्टियां लगाकर भाजपा सरकार द्वारा मालधन क्षेत्र की जनता की हो रही अनदेखी के विरोध में मालधन नंबर 2 चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

बैठक को समाजवादी लोक मंच के मुनीष कुमार, मदन मेहता, प्रगतिशील महिला एकता केंद्र की तुलसी छिम्बाल, ग्राम प्रधान रजनी, नीमा आर्य, विद्यापति शाह, माया आर्य, चरन देवी, रवि सिंह, मदन मेहता, उपपा नेता प्रभात ध्यानी, सौरभ इंसान आदि ने संबोधित किया।

कार्यक्रम में महेश आर्य, सूरज सिंह, लक्ष्मी, पुष्पा, ममता, पिंकी, उषा, रूपा, कविता, सुनीता, बिंद्रा, मोहनवती, समेत बड़ी संख्या में महिलाओं ने भागीदारी की।

भूली-बिसरी ख़बरे