झारखण्ड: साल भर के भीतर एक ही जिले में दस हजार लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज!

पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठ रहा है सवाल

न्यूज़ वेबसाइट स्क्रॉल डॉट इन की एक रिपोर्ट के अनुसार भाजपा शासित झारखण्ड के एक ही जिले में दस हजार से ज्यादा लोगों पर पत्थरगड़ी के आरोप में राजद्रोह यानी सेडिशन का केस दर्ज है। स्क्रॉल की कार्यकारी संपादक सुप्रिया शर्मा की रिपोर्ट बताती है कि ये सभी अनाम आदिवासी हैं। इन मामलों के खिलाफ रांची हाइकोर्ट में एक याचिका दायर की गयी है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक राज्य की राजधानी रांची से महज एक घण्टे की दूरी पर खूंटी जिला में जून 2017 से जुलाई 2018 के बीच पुलिस द्वारा दायर 19 एफआइआर में 11,200 लोगों पर सामाजिक सौहार्द भंग करने के आरोप लगाए गए हैं। वहीं 14 केसों 10,000 से ज्यादा लोगों पर आईपीसी की धारा 124A के तहत राजद्रोह का केस दर्ज हैं।

इन अनाम आदिवासियों के खिलाफ़ दर्ज केस को आदिवासी न्याय मंच नामक संगठन की ओर से अधिवक्ता सुनील विश्वकर्मा ने चुनौती दी है। उन्होंने कोर्ट से याचिका में आग्रह किया था कि ये सारे मामले किसी जांच एजेंसी कु सुपुर्द किए जाएं। हाइकोर्ट ने इस मामले को स्वीकार करते हुए झारखण्ड सरकार और राज्य की पुलिस को नोटिस भेजा है। मामले में पहली हियरिंग लंबित है।

पूरी रिपोर्ट यहां पढ़ सकते हैं।

मीडिया विजिल से साभार

%d bloggers like this: