छिंदवाड़ा: एव्हीजे एग्रो फैक्ट्री में सायलो गिरा, एक मजदूर की मौत दूसरा घायल; श्रमिकों में आक्रोश

कंपनियों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न होने से लगातार हादसे सामने आ रहे हैं। ताजा घटना मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा का है, जहां कार्यरत मज़दूरों ने अपने साथी की मौत पर आक्रोश जताया।

छिंदवाड़ा (मध्यप्रदेश) के सौंसर औद्योगिक क्षेत्र बोरगांव स्थित एव्हीजे एग्रो कंपनी में अचानक एक सायलो (रसायन से भरा बड़ा टैंक) गिर गया। सायलो के मलबे में दबने से एक मजदूर की मौत हो गई। वहीं, दूसरा घायल है, जो अस्पताल में भर्ती है।

घटना औद्योगिक केंद्र विकास निगम स्थित एव्हीजे एग्रो कंपनी में हुई। सायलो के नीचे दबे मजदूर के शव को बाहर निकालने में दस घंटे का समय लगा। इस बीच फैक्ट्री में कार्यरत मज़दूरों ने अपने साथी की मौत पर आक्रोश जताया।

लोधीखेड़ा टीआई जितेंद्र यादव ने बताया कि कंपनी में मंगलवार सुबह लगभग 10 बजे एक सायलो अचानक गिर गया। यहां काम कर रहे श्रमिकों में से एक बिहार के घीवा निवासी 19 वर्षीय मिथलेश कुमार पिता सुरेन्द्रराम सायलो के मलबे में दब गया था।

वहीं, मलबे की चपेट में आने से बिहार के मोहनपुर कटरा निवासी 26 वर्षीय जयकृष्ण पिता खटराम कुमार को गंभीर चोट आई है। घायल को महाराष्ट्र सावनेर स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मिथलेश का शव बाहर निकालने रेस्क्यू टीम को दस घंटे का वक्त लगा। पुलिस एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

सुरक्षा की अनदेखी, मज़दूरों में आक्रोश

फैक्ट्री में कार्यरत कामगारों ने अपने साथी की मौत पर आक्रोश जताया। इस कंपनी में ज्यादातर मजदूर दूसरे राज्य से हैं। मज़दूरों का कहना है कि प्रबंधन द्वारा उनकी सुरक्षा की अनदेखी की जाती है। शिकायत करने पर काम से निकालने की धमकी दी जाती है।

गौरतलब है कि देश के तमाम हिस्सों की तरह छिंदवाड़ा के सौंसर औद्योगिक क्षेत्र बोरगांव स्थित फैक्ट्रियों में कार्यरत कामगारों की सुरक्षा की अनदेखी लगातार जारी रही है। कंपनियों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न होने से लगातार हादसे सामने आ रहे हैं।

About Post Author