कोलकाता: आंदोलनकारी सरकारी कर्मचारियों की गिरफ्तारी; कर्मचारियों का कोर्ट में प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में सरकारी कर्मचारी बकाया डीए को लेकर आंदोलित हैं। गिरफ्तार 47 कर्मचारियों को कोर्ट में पेश किया गया है। कर्मचारियों ने बैंकशाल कोर्ट के सामने प्रदर्शन किया।

पश्चिम बंगाल में सरकारी कर्मचारी भी बकाया महंगाई भत्ते की मांग को लेकर सड़क पर उतर आये थे. इस दौरान 47 सरकारी कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जिन्हें आज बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया है. जहां पर अन्य सरकारी कर्मचारियों की मांग है कि गिरफ्तार किये गये 47 लोगों को जमानत मिले साथ ही सरकार उनके बकाया डीए का भुगत्तान जल्द करें. बैंकशाल कोर्ट के सामने सरकारी कर्मचारियों का प्रदर्शन जारी है.

बकाया डीए को लेकर कोलकाता नगर निगम में भी सरकारी कर्मचारियों की ओर से आंदोलन किया गया . उनकी मांग है कि गिरफ्तार किये गये सरकारी कर्मचारियों को जमानत दी जाएं. इसके साथ ही डीए को बढ़ाया जाए.

पुलिसकर्मियों पर हमला, धक्का-मुक्की एवं मारपीट के आरोप में पुलिस ने 47 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है. इनके खिलाफ हेयर स्ट्रीट थाने में कुल नौ गैर जमानती धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज किये गये हैं. पुलिस के मुताबिक, प्रदर्शनकारी विधानसभा जाना चाहते थे. इन्हें रानी रासमणि एवेन्यू में रोक दिया गया. इस दौरान प्रदर्शनकारी भड़क गये और पुलिस के साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी. हमले में एक इंस्पेक्टर, महिला पुलिसकर्मी समेत चार पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटें आयी हैं. कुछ अन्य पुलिसकर्मियों को भी मामूली चोट लगी है. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई हमला करने से जुड़े 47 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया. इन पर काम में बाधा देने, मारपीट करने, पुलिस पर हमला करने, पुलिसकर्मियों को अपशब्द कहने जैसे कुल नौ गैरजमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज कि गया है. इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा रही है.

प्रभात खबर से साभार

%d bloggers like this: