चीन में कपड़ा फैक्ट्री में भीषण आग; 38 मज़दूरों की मौत दो लोग घायल व दो लापता

घटना में फैक्ट्री की लापरवाही सामने आई है। घायल लोगों को अस्पताल भेजा गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। वहीं लापता हुए दो लोगों की तलाश रेस्क्यू टीम द्वारा की जा रही है। 

मध्य चीन के हेनान प्रांत के वेनफेंग जिले में एक कपड़ा फैक्ट्री में भीषण आग लगने से 38 मज़दूरों की मौत हो गई। जबकि दो लोग घायल व दो लोगों के लापता होने की बात सामने आ रही है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

स्थानीय प्रशासन ने इस घटना के लिए कंपनी को ही जिम्मेदार ठहराया है, जो नियमों को ताक पर रखकर यहां मुख्य रूप से कपड़ों की मैन्युफैक्चरिंग कर रही थी।

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, हेनान प्रांत के आन्यांग शहर में स्थित एक ट्रेडिंग कंपनी की फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। ग्लोबल टाइम्स की खबर के अनुसार, पुलिस ने इस घटना के पीछे साजिश होने का शक जाहिर किया है। पुलिस ने कुछ संदिग्धों को भी गिरफ्तार किया है। जिनका नाम अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक हादसा 21 नवंबर की शाम 4 बजकर 22 मिनट पर हुआ। आग पर बड़ी मशक्कत के बाद रात 11 बजे काबू पाया गया था। अन्यांग शहर प्रशासन ने बताया कि 21 नवंबर की शाम को बचाव टीम को वेनफेंग इलाके की एक ट्रेडिंग कंपनी के प्लांट में आग लगने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद बचाव व राहत दल ने मौके पर पहुंचकर आग बुझाने का कार्य शुरु किया।

आग पर काबू पाने के लिए फॉयरब्रिगेड के 240 फायर फाइटर्स और 63 फायर ट्रक्स का उपयोग किया गया। इसके अलावा पावर सप्लाई, पब्लिक सिक्योरिटी व मेडिकल टीम को भी घटनास्थल पर बुलाया गया था। हादसे में घायल हुए लोगों को प्राथमिक उपचार देकर अस्पताल भेजा गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। वहीं लापता हुए दो लोगों की तलाश रेस्क्यू टीम द्वारा की जा रही है। 

फैक्ट्री में चल रही गैरकानूनी गतिविधियां बनीं आग की वजह

स्टेट मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, फैक्ट्री में आग लगने की वजह वहां चल रही गैर-कानूनी गतिविधियां हैं। हालांकि यह गतिविधियां कैसी थीं? इसका अभी खुलासा नहीं किया गया है। वहीं पुलिस की तरफ से बताया गया है कि उन्होंने हादसे के जिम्मेदारों की पहचान कर उन्हें हिरासत में ले लिया है। हालांकि अभी इनकी पहचान सार्वजनिक नहीं की गई है। 

पहले भी हो चुके हैं ऐसे हादसे

चीन में पहले भी ऐसे भयानक हादसे हो चुके हैं। यहां साल 2015 में तिआंजिन शहर के एक केमिकल गोदाम में आग लग गई थी। विस्फोट होने के चलते लगी इस आग में 173 से ज्यादा लोग मारे गए थे। मरने वालों में अधिकांश पुलिस वाले व दमकल कर्मी थे। वहीं एक अन्य घटना इसी साल सितंबर महीने में चांग्शा शहर में हुई थी। यहां की एक 42 मंजिला इमारत में आग लग गई थी। आग इतनी तेज थी कि देखते ही देखते वह पूरे फ्लोरों में फैल गई। 

%d bloggers like this: