दुर्गापुर स्टील प्लांट में पिघले लोहे की चपेट में आने से एक श्रमिक की मौत; तीन गंभीर

दुर्गापुर स्टील प्लांट की ब्लास्ट फर्नेस से पिघला हुआ लोहा सड़क पर रेलवे लाइन की मरम्मत का काम कर रहे श्रमिकों पर गिर गया। प्लांट में प्रायः ठेका मजदूर हादसों का सामना कर रहे हैं।

दुर्गापुर, 20 नवंबर (हि.स.)। दुर्गापुर स्टील प्लांट में रविवार सुबह हुए हादसे में एक श्रमिक की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए।

सूत्रों के अनुसार रविवार सुबह करीब साढ़े दस बजे दुर्गापुर स्टील प्लांट की ब्लास्ट फर्नेस नंबर-2 से पिघला हुआ लोहा दूसरी जगह ले जाने के क्रम में अचानक लेडल पलट गया। उस समय दुर्गापुर स्टील फैक्ट्री के कई ठेका मजदूर उस सड़क पर रेलवे लाइन की मरम्मत का काम कर रहे थे। पिघले लोहे की चपेट में आने से एक की मौके पर ही मौत हो गई। सूत्रों के अनुसार अन्य तीन ठेका कर्मचारी गंभीर रूप से झुलस गए। तीनों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत गंभीर होने पर उन्हें दुर्गापुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

फैक्ट्री सूत्रों के अनुसार मृत मजदूर का नाम पलटू बाउरी था। वह यहां ठेका मजदूर के रूप में काम करता था। प्रशांत बनर्जी, प्रशांत गोप और गोपी राम गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं। उनकी हालत गंभीर है। अभी तक इस घटना को लेकर दुर्गापुर इस्पात प्राधिकरण की ओर से कोई टिप्पणी नहीं आई है। हालांकि दुर्गापुर स्टील प्लांट में हुए हादसे के कारणों को लेकर विभिन्न श्रमिक संगठनों के नेता बार-बार सामने आए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दुर्गापुर स्टील प्लांट में एक और हादसा होने से मजदूर संगठन के पदाधिकारी और दुर्गापुर स्टील प्लांट के पदाधिकारी सदमे में हैं। दुर्गापुर स्टील प्लांट में लगभग हर दिन ठेका मजदूरों को हादसों का सामना करना पड़ रहा है। इस दिन दुर्गापुर स्टील प्लांट में हुए इतने बड़े हादसे में ठेका मजदूरों की मौत की खबर पूरे औद्योगिक क्षेत्र में फैल गई।

हिंदुस्थान सामाचार से साभार

%d bloggers like this: