मध्यप्रदेश: पुरानी पेंशन बहाल हो! 24 नवंबर को विधानसभा से रैली के साथ भोपाल में प्रदर्शन

पुरानी पेंशन की बहाली, न्यूनतम पेंशन नौ हजार रुपये करने, केंद्रीय तिथि से महंगाई दर में वृद्धि आदि माँगें; विधानसभा से रैली निकालकर सरदार वल्लभ भाई उद्यान में सभा होगी।

भोपाल। शासकीय कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की बहाली, न्यूनतम पेंशन नौ हजार रुपये करने, केंद्रीय तिथि से महंगाई दर में वृद्धि सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदेश के पेंशनर 24 नवंबर को भोपाल में प्रदर्शन करेंगे। विधानसभा से रैली निकालकर सभी मंत्रालय के सामने स्थित सरदार वल्लभ भाई उद्यान में एकत्र होंगे और यहां सभा होगी।

प्रदेशव्यापी प्रदर्शन के आयोजक पेंशनर एसोसिएशन के प्रांतीय उपाध्यक्ष गणेश दत्त जोशी ने बताया कि पेंशनर के साथ प्रदेश में लंबे समय से अन्याय हो रहा है। माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के बाद भी छठवें वेतनमान के 32 माह का एरियर नहीं दिया गया है। सातवें वेतनमान के 27 माह के एरियर का भुगतान भी नहीं किया गया। केंद्र सरकार महंगाई राहत में वृद्धि करती है लेकिन इसका लाभ पेंशनर को तत्काल नहीं दिया जाता है।

छत्तीसगढ़ से सहमति के नाम पर इसे रोककर रखा जाता है, जबकि केंद्र सरकार स्पष्ट कर चुकी है कि इसकी आवश्यकता नहीं है। हमारी मांग है कि केंद्र सरकार ने पेंशन नियम 1976 में संशोधन करके अविवाहित, विधवा, तलाकशुदा एवं परित्यक्ता पुत्री को आजीवन परिवार पेंशन भुगतान की व्यवस्था की है, उसे लागू किया जाए। कोरोना काल में रोकी गई महंगाई राहत को अवकाश नकदीकरण में गणनाकर भुगतान किया जाए। विद्युत मंडल, नगर निगम, नगर पालिका के पेंशनर की महंगाई राहत में वृद्धि के लिए शासन की सहमति की अनिवार्यता को समाप्त किया जाए।

नईदुनिया से साभार

%d bloggers like this: