अमेरिका: अमेजॉन द्वारा यूनियन गतिविधियों का विरोध; अमेजॉन कर्मचारी हड़ताल पर

अमेजॉन के कर्मचारी कैलिफोर्निया में एक और यूनियन चुनाव लड़ने की योजना बना रहे हैं। कंपनी ने यूनियन गतिविधियों पर कार्रवाई की है, जिसके बाद कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं।

अमेरिका : दुनिया की सबसे बड़े खुदरा विक्रेता कम्पिनियों में से एक अमेजॉन कंपनी के कर्मचारी बीते लम्बे समय से हड़ताल पर हैं। कर्मचारियों की मांग है कि उनके वेतन को बढ़ाया जाये और काम की स्थिति में सुधार किया जाये।

वहीं दूसरी ओर कंपनी ने यूनियन गतिविधियों को लेकर एक्शन लिया है, जिसके बाद अमेजॉन के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। अमेजॉन के इस संघीकरण आंदोलन ने पूरी दुनिया में ध्यान आकर्षित किया है।

अमेजॉन के कर्मचारी कैलिफोर्निया के मोरेनो वैली में अमेजॉन ONT8 गोदाम में एक और यूनियन चुनाव लड़ने की योजना बना रहे हैं। शुरुआती चुनौती के बाद अगले कुछ हफ्तों में एक चुनाव याचिका फिर से जमा करने की प्लानिंग बन रही है।

इस बीच पूरे अमेरिका में कामगारों ने आरोप लगाया कि इतनी बड़ी कंपनी संघीकरण गतिविधियों पर कठोर कार्रवाई कर रही है। जिसके जवाब में कर्मचारियों ने विरोध और हड़ताल की है।

ज्ञात होकि, सालाना सेल की शुरुआत में दुनियाभर में अमेज़न के हज़ारों कर्मचारियों ने तनख़्वाह और काम की परिस्थितियों के कारण विरोध प्रदर्शन शुरू किया था।

इस दौरान अमेज़न ने अपने प्राइम सर्विस सदस्यों के लिए डिस्काउंट ऑफ़र शुरू किया था।

जिसके बाद कर्मचारियों का कहना था कि जर्मनी में दो हज़ार कर्मचारी हड़ताल पर हैं जबकि अमरीका के मिनेसोटा सेंटर में कथित तौर पर कर्मचारियों ने छह घंटे काम रोकने के बारे में सोचा था।

गौरतलब है कि बीते 12 अक्टूबर को अमेज़न के कर्मचारी भी प्राइम डे के अवसर पर काम बंद कर दिया था। इसमें मुख्य रूप से जोलियट, इलिनोइस और जॉर्जिया के अन्य गोदामों के कर्मचारी शामिल थे। इतना ही नहीं मिनेसोटा के शाकोपी में एक अमेज़ॅन गोदाम के कर्मचारियों ने इस साल की शुरुआत में खराब कामकाजी परिस्थितियों को लेकर कम से कम दो हड़तालें की हैं।

वहीं अमेज़ॅन के एक प्रवक्ता ने दावा किया है कि कंपनी अपने कर्मचारियों अच्छा वेतन और लाभ देती है। साथ ही उन्होंने कर्मचारियों द्वारा लगाए गए प्रतिशोध और सुरक्षा आलोचनाओं के आरोपों से इनकार किया है।

हैरान करने वाली बात यह है कि अमेज़न के दुनियाभर में 6.3 लाख कर्मचारी हैं जिनमें से तीन लाख केवल अमरीका में हैं।

वर्कर्स यूनिटी से साभार

%d bloggers like this: