अमेरिकी राज्य ओहायो में ब्रिटिश पेट्रोलियम रिफाइनरी में लगी आग, दो कर्मचारियों की मौत

आग लगाने के बाद रिफाइनरी में अफर-तफरी मच गई। फिलहाल आग बुझा दी गई और रिफाइनरी को सुरक्षित रूप से बंद कर दिया गया। आग लगाने का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है।

अमेरिकी राज्य ओहायो में एक ब्रिटिश पेट्रोलियम (बीपी) रिफाइनरी में आग लगने से दो कर्मचारियों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बुधवार को एक बयान में बीपी के हवाले से बताया कि ओरेगन शहर में हस्की टोलेडो रिफाइनरी के अन्य सभी कर्मचारी सुरक्षित हैं।

मंगलवार की रात आग बुझा दी गई और रिफाइनरी को सुरक्षित रूप से बंद कर दिया गया और बुधवार को भी बंद रहा। आग किस वजह से लगी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। बीपी ने कहा कि हस्की टोलेडो रिफाइनरी “100 से अधिक वर्षों से उत्तर पश्चिमी ओहायो की अर्थव्यवस्था की आधारशिला रही है”।

कहा जाता है कि रिफाइनरी हर दिन 160,000 बैरल कच्चे तेल को संसाधित करने में सक्षम है, जो मिडवेस्ट को गैसोलीन, डीजल, जेट ईंधन, प्रोपेन, डामर और अन्य उत्पाद प्रदान करती है।

दैनिक आधार पर, यह सुविधा 3.8 मिलियन गैलन गैसोलीन, 1.3 मिलियन गैलन डीजल ईंधन और 600,000 गैलन जेट ईंधन का उत्पादन कर सकती है।

नवजीवन से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे