तमिलनाडु: पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से महिलाओं सहित तीन मज़दूरों की मौत, दो गंभीर

मृतकों में दो महिला श्रमिक हैं। दुर्घटना के कारणों का पता नहीं चला है। तमिलनाडु में चौबीस घंटों के भीतर पटाखा फैक्ट्री या दुकान में आग लगने की यह दूसरी घटना है।

तमिलनाडु के कुड्डालोर जिले के एम पुथुर गांव में पटाखा उत्पादन इकाई में आग लगने से तीन मज़दूरों की मौत हो गई जबकि दो अस्पताल में भर्ती हैं। तमिलनाडु में चौबीस घंटों के भीतर पटाखा फैक्ट्री या दुकान में आग लगने की यह दूसरी घटना है। दोनों घटनाओं में 4 मज़दूरों की मौत हो चुकी है।

इस पटाखा बनाने वाली इकाई में हुए विस्फोट में पेरियाकाराइकाडु गांव की चित्रा (35), नेल्लीकुप्पम गांव की अंबिका (50) और मूलक्कुप्पम गांव के साथियाराज (34) की मौत हुई है।

बुधवार को दिंडीगुल जिले में एक पटाखा दुकान में आग लग गई थी। हादसा जिला कलक्टर कार्यालय के सामने चेन्नामनायकनपट्टी के अरुणाचलम नगर स्थित अर्जुन फायरक्रैकर्स नामक पटाखा दुकान में हुआ था। इस हादसे में एक युवक की मौत हुई। साथ ही व्यापारी का लाखों रुपये का नुकसान हो गया था।

बताया जा रहा है कि तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने मृतकों के परिवारों को तीन-तीन लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की। उन्होंने अधिकारियों को नेल्लीकुप्पम गांव के वसंता का अच्छा इलाज कराने का निर्देश दिया, जो दुर्घटना में घायल हो गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। मैंने कुडलूर के सरकारी अस्पताल में नेल्लीकुप्पम गांव की वसंता का विशेष उपचार करने का आदेश दिया है, जो इस दुर्घटना में घायल हो गई है।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: