दिल्ली: अब प्लास्टिक फैक्ट्री में आग, मज़दूरों के फंसे होने की आशंका; 24 घंटे में दूसरा कांड

नरेला फैक्ट्री के अंदर मजदूरों के फंसे होने की आशंका है, मौके पर एंबुलेंस भी पहुंच गई हैं। उधर मुंडका अग्निकांड में कुछ और अवशेष मिलने से मृतकों की संख्या बढ़कर 30 हो सकती है।

दिल्ली के मुंडका फैक्ट्री की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि नरेला में एक फैक्ट्री में भीषण आग लगने की खबर है। आग प्लास्टिक के दाने बनाने की फैक्ट्री में लगी है। आग काफी भीषण बताई जा रही है।  इससे मौके पर अफरातफरी मच गई।

फैक्ट्री के अंदर मजदूरों के फंसे होने की आशंका है, लिहाजा मौके पर एंबुलेंस भी पहुंच गई हैं।

शुरुआती जानकारी के अनुसार मौके पर फायर ब्रिगेड की 25 गाड़ियां आग बुझाने की कोशिश कर रही हैं। आग लगने के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका  है। घटना की सूचना पाकर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच गई है।

नरेला में आग लगने से ठीक एक दिन पहले शुक्रवार को मुंडका के मेट्रो स्टेशन के पास एक चार मंजिला इमारत में आग लग गई थी। इसमें 27 लोगों की मौत हो गई थी। सभी के शव बरामद कर लिए गए हैं। जबकि कई लोग अभी भी लापता बताए जा रहा हैं। ये हादसा इतना दर्दनाक था कि मृतकों की लाश की पहचान करना भी मुश्किल हो रहा था। कई लोग घायल बताए जा रहे हैं।

फायर अधिकारी ने बताया कि हमें कुछ और अवशेष मिले हैं और ऐसा लगता है कि दो-तीन शव होंगे। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 30 हो सकती है।

इस इमारत में पहले माले पर मैन्युफैक्चरिंग यूनिट थी। दूसरे माले पर वेयर हाउस और तीसरे पर लैब थी। सबसे ज्यादा मौत अब तक दूसरे माले पर बताई गई हैं। दरअसल, इसी दूसरे माले पर ही मोटिवेशनल स्पीच चल रही थी, जिसके चलते ही ज्यादा लोग यहां मौजूद थे। चूंकि दरवाजा बंद था इसलिए वह अंदर ही फंस गए। 

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: