पंजाब: आप सरकार को चुनावी वायदा पूरी करे! पुरानी पेंशन स्कीम बहाली के लिए मुखर हुई आवाज

कर्मचारियों ने उठाई माँग, कहा नई पेंशन स्कीम के तहत करोड़ों रुपये की एकत्रित की जाती राशि कार्पोरेट घरानों के निजी प्रयोग के लिए शेयर मार्केट में लगा दिया जाता है।

पुरानी पेंशन प्राप्ति मोर्चा पंजाब के प्रदेश कन्वीनर गुरजंट सिंह कोकरी कलां, को-कन्वीनर रणदीप फतेहगढ़ साहिब, टहल सिंह सराभा, मीडिया इंचार्ज जसविदर सिंह निहाल सिंह वाला, गवर्नमेंट टीचर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सुरिदर कुमार ने मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान से मांग की कि आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव के समय जारी किए अपने चुनाव घोषणा पत्र में पुरानी पेंशन पेंशन स्कीम बहाल करने का वादा किया था, इसे पूरा किया जाए।

उन्होंने बताया कि जनवरी 2004 से लागू नई कंट्रीब्यूटरी पेंशन स्कीम में मुलाजिमों का वेतन का 10 प्रतिशत हिस्सा काट लिया जाता है। एनपीएस स्कीम के तहत करोड़ों रुपये की एकत्रित की जाती राशि कार्पोरेट घरानों के निजी प्रयोग के लिए शेयर मार्केट में लगा दिया जाता है। जबकि पुरानी पेंशन स्कीम में कर्मचारी के सेवानिवृत्त होने से पहले पंजाब सरकार के खजाने पर कोई वित्तीय असर नहीं पड़ता। उन्होंने कहा कि पंजाब के नई पेंशन वाले कर्मचारियों व पंजाब सरकार के वर्ष 2004 से अब तक कई हजार करोड़ रुपये शेयर मार्केट फंड व कंपनियों के पास फंड के रूप में जमा हो चुके हैं तथा कई 100 करोड़ रुपये हर वर्ष लगातार जमा होते जा रहे हैं। इससे मुलाजिमों सहित पंजाब सरकार के खजाने को बड़े स्तर पर चूना लग रहा है।

पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली के लिए 14 मई को अमृतसर में जोनल कन्वेंशन में तरनतारन, गुरदासपुर, अमृतसर व पठानकोट जिलों के कर्मचारी शामिल होंगे। 21 मई को संगरूर में जोनल कन्वेंशन में संगरूर, पटियाला, मानसा, फतेहगढ़ साहिब, रोपड़, मोहाली,

मालेरकोटला, बरनाला जिले के सदस्य शामिल होंगे। 28 मई को जालंधर में हो रही जोनल कन्वेंशन में लुधियाना, होशियारपुर, नवांशहर, बरनाला जिले के मोर्चा के सदस्य शामिल होंगे। इसके अलावा चार जून को फरीदकोट में हो रही जोनल कन्वेंशन में फिरोजपुर, फाजिल्का, फरीदकोट, बठिडा, मोगा व श्री मुक्तसर साहिब जिलों के कर्मचारी शामिल होंगे और पंजाब सरकार को चेतावनी देंगे कि अगर पुरानी पेंशन स्कीम तुरंत बहाल न की गई तो संघर्ष को तेज किया जाएगा।

जागरण से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: