रेल कर्मियों का प्रदर्शन – ‘रेल बचाओ, देश बचाओ’

चेताया कि अगर निजीकरण एवं मुद्रीकरण के निर्णय को जल्द से जल्द वापस नहीं लिया गया तो संगठन आरपार का आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा।

एनई रेलवे मजदूर यूनियन के सदस्यों ने सोमवार को निजीकरण और मुद्रीकरण के विरोध में मऊ जंक्शन पर जुलूस निकालते हुए धरना दिया। उन्होंने चेताया कि अगर निजीकरण एवं मुद्रीकरण के निर्णय को जल्द से जल्द वापस नहीं लिया गया तो संगठन आरपार का आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा। यूनियन के सदस्यों ने मंडल इंजीनियर व सहायक मंडल इंजीनियर को मांगपत्र भी सौंपा।

मांडलिक मंत्री कामरेड वीके सिंह ने कहा कि रेलवे कर्मचारियों का उत्पीड़न व शोषण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मंडल अध्यक्ष एनपी सिंह ने चेताया कि यदि जल्द ही कर्मचारियों का शोषण व उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो आंदोलन तेज करने के लिए बाध्य होंगे। साथ ही साथ निर्णय लिया गया कि 8 सितंबर को संगठन के आह्वान पर सभी शाखाओं की तरफ से प्रदर्शन किया जाएगा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय उपाध्यक्ष मुन्नी लाल गुप्ता तथा संचालन संचालन शाखा मंत्री राजेश सिंह ने किया। इस अवसर पर मुख्य रुप से माधव तिवारी, मजीद खान, राकेश रंजन, चंद्रशेखर, मनोज सिंह, मुन्ना लाल यादव, दिवाकर राही, श्रवण कुमार, विनोद, रंजन गिरि, धर्मेंद्र पासवान, अनिल, प्रवीण आदि उपस्थित रहे।

हिन्दुस्तान से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: