भाजपा विधायक-मंत्री की वादाखिलाफी के विरोध में गुजरात अम्बुजा मज़दूरो के बच्चों द्वारा बालसत्याग्रह

गुजरात अम्बुजा सितारगंज के मज़दूरो के बच्चों ने भाजपा विधायक व मंत्री की वादाखिलाफी के विरोध में बालसत्याग्रह के कार्यक्रम के तहत हल्द्वानी में सभा की व पदयात्रा निकाली। आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने का संकल्प लिया गया।

विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने का संकल्प

हल्द्वानी (उत्तराखंड)। 15 अगस्त 2021 को आजादी की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर गुजरात अम्बुजा एक्सपोर्ट लि0 सिडकुल सितारगंज के मज़दूरो के बच्चों ने भाजपा विधायक व मंत्री की वादाखिलाफी के विरोध में बुद्धपार्क हल्द्वानी में बालसत्याग्रह के कार्यक्रम के तहत सभा की गई।

कार्यक्रम के अन्त में तिरंगे झंडे के साथ में हल्द्वानी शहर में पदयात्रा निकाली गई और शहर की जनता के बीच पर्चा वितरण हुआ। इस दौरान आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने का संकल्प लिया गया।

रविवार को भारी संख्या में मजदूर, महिलाएं व सामाजिक संगठनों के साथी बाल सत्याग्रह के कार्यक्रम में शामिल हुए। सभा को संबोधित करते हुए बच्चों ने कहा कि विगत 28 जनवरी 2020 को गुजरात अम्बुजा कम्पनी के मजदूरो ने शोषण के विरोध में हडताल की। उत्तराखंड की भाजपा सरकार व जिला प्रशासन जालिम मालिक की ढाल बन गये।

30 जनवरी 2020 को पुलिस द्वारा करीब 200 मजदूरो व महिलाओं पर झूठे मुकदमें दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। शहर की न्यायप्रिय जनता ने इस अत्याचार के विरोध में सितारगंज शहर का चौराहा जाम कर प्रशासन को गिरफ्तार मजदूरो को रिहा करने को विवश किया।

उस समय सितारगंज क्षेत्र भाजपा विधायक सौरभ बहुगुणा ने चौराहे पर उपस्थित करीब एक हजार लोगो के समक्ष बच्चों व महिलाओं को दो दिन में समस्या का समाधान करने का बचन देकर चौराहे पर लगाया जाम खुलवाया गया। उस समय उपस्थित जनता ने विधायक सौरभ बहुगुणा के वचन पर भरोसा कर जाम को खोल दिया। बाद में सौरभ बहुगुणा ने छल कपट का परिचय देकर अपने उक्त वचन को तोड़कर विश्वासघात किया।

इसी तरह से पुर्व भाजपा अध्यक्ष व शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत द्वारा 8 मार्च 2020 को महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं व बच्चों को दो-तीन दिन में समस्या हल करने को बचन देकर बाल सत्याग्रह के कार्यक्रम को स्थगित कराया। बाद में बंशीधर भगत ने भी विश्वासघात कर अपने बचन तोड दिया।

कंपनी मालिक पर सितारगंज कोर्ट के आदेश पर सितारगंज कोर्ट में गरीब मजदूरो के पीएफ का गबन करने के आरोप में कोतवाली सितारगंज में धोखाधडी का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी गिरफ्तारी न की गई। भाजपा सरकार द्वारा कम्पनी मालिक को इसलिए सरंक्षण दिया जा रहा हैं क्योंकि कम्पनी मालिक व प्रबंधन की भाजपा व आरएसएस से गहरे रिस्ते हैं।

प्रदर्शन के दौरान ऐलान हुआ कि आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा को वोट नही मिशन के तहत बाल सत्याग्रह का कार्यक्रम निरंतर चलाया जायेगा इसका बच्चों ने संकल्प लिया।

कार्यक्रम में समर्थन देने वाले संगठनों व यूनियन प्रतिनिधियों ने सवाल उठाया कि यह कैसी विडंबना हैं कि एक तरफ देश स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ मना रहा है वही गुजरात अम्बुजा के मजदूर दर दर की ठोकरे खा रहे हैं और उनके बच्चे बाल सत्याग्रह करने को विवश हैं।

उपस्थित साथियों ने भाजपा व आरएसएस के विरूद्ध बच्चों द्वारा छेडे गये बाल सत्याग्रह के कार्यक्रम को वक्त की जरूरत बताया और स्वागत करते हुए हर समय सहयोग करने का भरोसा दिलाया।

कार्यक्रम को उत्तराखंड क्रांति दल के उपाध्यक्ष श्री भुवन चन्द्र जोशी, समाज सेवी श्री भुवन पोखरिया, प्रगतिशील महिला एकता केंद्र की महासचिव रजनी जोशी, गुजरात अम्बुजा यूनियन के महामंत्री जनार्दन पोखरीया, राकेट रिद्धि-सिद्धि यूनियन के अध्यक्ष गोविंद सिंह, इन्टराक मजदूर संगठन के राकेश कुमार, क्रांतिकारी लोक अधिकार संगठन के अध्यक्ष प्रेम प्रसाद आर्य, इंकलाबी मजदूर केन्द्र के कैलाश चन्द्र, ठेका मजदूर कल्याण समिति के मनोज, परिवर्तन कामी छात्र संगठन के विपिन, रबि वाल्मीकि सहित तमाम अन्य लोग मोजूद रहे।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: