सत्यम ऑटो मज़दूरों की कार्यबहाली करो, झूठे मुक़दमें वापस लो – भारतीय किसान यूनियन

यूनियन ने निकाली रैली, जिला प्रशासन को दी चेतावनी

हरिद्वार (उत्तराखंड)। सत्यम ऑटो कॉम्पोनेंट्स के श्रमिकों के समर्थन में सोमवार को भारतीय किसान यूनियन भगत सिंह चौक हरिद्वार से रैली निकाल कर सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पहुंचा और सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से जिलाधिकारी हरिद्वार को पीड़ित श्रमिकों से संबंधित 2 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन दिया।

भारतीय किसान यूनियन ने जिला प्रशासन तथा उत्तराखंड सरकार से मांग की है कि श्रमिकों एवं उनके पत्नियों पर लगे झूठे मुकदमे तत्काल प्रभाव से वापस हो तथा श्रमिकों के परिवार की बदहाल स्थिति को देखते हुए उन्हें तुरंत काम पर भिजवाया जाए अन्यथा भारतीय किसान यूनियन और तेज आंदोलन करने के लिए बाध्य होगी।

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष विजय शास्त्री ने कहा कि सत्यम ऑटो कॉम्पोनेंट्स के प्रबंधन ने पिछले 4 सालों में अपने 300 स्थाई श्रमिकों को बिना कारण बताए नौकरी से निकाल दिया और श्रमिक अपने बहाली की मांगों को लेकर कंपनी प्रबंधन श्रम विभाग आदि सक्षम अधिकारियों को गुहार लगाने के बाद भी जब कोई कार्यवाही नहीं हुई और श्रमिकों का परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गया तो मजबूरन श्रमिक 8 जुलाई 2021 से कंपनी के मुख्य द्वार पर शांतिपूर्वक धरना दे रहे थे।

जिला अधिकारी महोदय ने 31 जुलाई तक मामले को निपटाने का आश्वासन दिया था किंतु 22 जुलाई 2021 को श्रमिकों और उनके परिवार  बच्चों को सुबह 5:00 बजे पुलिस प्रशासन बलपूर्वक उठा दिया और 8 बसों में भरकर पुलिस लाइन ले जाया गया और वहां से 13 लोगों को जेल भेज दिया गया बाकी लगभग ढाई सौ श्रमिकों एवं उनकी पत्नियों पर झूठे मुकदमे लगाकर उन्हें अलग-अलग जगह छोड़ दिया गया।

भारतीय किसान यूनियन इस अमानवीय कृतियां एवं दमन की घोर निंदा करती है और जब तक पीड़ित श्रमिकों को न्याय नहीं मिलता तब तक उनके साथ है।

सिटी मजिस्ट्रेट हरिद्वार को ज्ञापन देते समय भारतीय किसान यूनियन से विजय शास्त्री, संजय चौधरी, रामपाल सिंह, रवि कुमार, गुलशन और सत्यम से राहुल, वारिस, पवन, अमित गुप्ता, पंकज आदि उपस्थित थे।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: