आईटी कंपनी विप्रो में दूसरी बार कर्मचारियों के वेतन बृद्धि का ऐलान

80 फीसदी कर्मचारियों को मिलेगा लाभ

कोविड-19 से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों के बीच आईटी कंपनी विप्रो लिमिटेड ने शुक्रवार को कहा कि वह एक सितम्बर से अपने कनिष्ठ कर्मचारियों का वेतन बढ़ाएगी। इस ऐलान का फायदा कंपनी के असिस्‍टेंट मैनेजर्स और नीचे के पद के 80 फीसदी कर्मचारियों को होगा। कंपनी ने जनवरी के बाद दूसरी बार वेतन बृद्धि की है।

इससे पहले टीसीएस ने भी अप्रैल से कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने का ऐलान किया था। 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी इस वित्तीय वर्ष के लिए वृद्धि की घोषणा करने वाली टीसीएस विप्रो की सहकर्मी है।

विप्रो कंपनी ने एक बयान में कहा कि विप्रो बैंड बी3 (सहायक प्रबंधक और नीचे) तक के सभी पात्र कर्मचारियों के लिए योग्यता आधारित वेतन वृद्धि (एमएसआई) शुरू करेगी, जो एक सितम्बर से प्रभावी होगी।

उसने कहा कि कंपनी ने एक जनवरी 2021 को इन बैंड वर्ग में आने वाले लगभग 80 प्रतिशत योग्य कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की घोषणा की थी। इस वर्ष यह यह दूसरी वेतन बढ़ोतरी है।

कंपनी ने कहा कि जैसा कि पहले घोषणा की गई, सभी बैंड सी1 (प्रबंधक और ऊपर के पद) के सभी पात्र कम्रचारियों को एक जून से वेतन वृद्धि का लाभ मिलेगा।

विप्रो ने कहा, ‘‘औसतन, अपतटीय कर्मचारियों के लिए वेतन वृद्धि उच्च एकल अंकों में होगी जबकि यह ऑनसाइट कर्मचारियों के लिए मध्य-एकल अंकों में होगी। कंपनी शीर्ष प्रदर्शन करने वालों को अधिक वेतन वृद्धि के साथ पुरस्कृत करेगी।’’

कंपनी ने हालांकि कुल कितनी वेतन बढ़ोतरी की है, उसकी जानकारी नहीं दी। विप्रो आम तौर पर जून के दौरान वेतन में वृद्धि करती है।

विप्रो में कर्मचारियों को पांच श्रेणियों में (ए से लेकर ई तक) में रखा गया है। इसमें बी3 बैंड में सबसे ज्यादा कर्मचारी हैं जो कि कंपनी के कुल 1.97 लाख कर्मचारियों में सबसे ज्यादा हैं।

समाचार एजेंसी भाषा इनपुट के साथ

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: