वाट्सएप पर 3 रेड टिक’ वाले मैसेज की क्या है पूरी सच्चाई?

इस तरह का मैसेज बीते साल भी हुआ था वायरल

व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक मैसेज फारवर्ड किया जा रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि नए आईटी नियम लागू होने के बाद सभी के व्हाट्सएप मैसेज व कॉल रिकॉर्ड किए जाएंगे। साथ ही उनकी सोशल मीडिया की एक्टीविटी पर नजर रखी जाएगी।

इस मैसेज में दावा किया गया गया है कि इंस्टैंट मैसेजिंग एप व्हाट्सएप ने नए नियम लागू कर दिये हैं। इसमें दो ब्लू टिक- एक रेड टिक और तीन रेड का अर्थ समझाया है। ब्लू टिक व एक रेड टिक का मतलब है कि सरकार कार्रवाई कर सकती है, जबकि तीन रेड टिक का मतलब है कि कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। आप इस तरह के मैसेज से घबराएं, उससे पहले बता देते हैं कि ये दावे फर्जी हैं।

बताते चलें कि इस तरह का मैसेज बीते साल भी वायरल हुआ था। इस नए व फर्जी मैसेज में कहा कि कोई यूजर्स सरकार के खिलाफ या किसी धार्मिक मुद्दे पर नकारात्मक संदेश शेयर करता है, तो उसको गिरफ्तार कर लिया जाएगा। (इसे भी पढ़ेंः व्हाट्सएप पर ऐसे छिपाएं अपनी अपनी प्रोफाइल पिक्चर, जानें ऐसे ही और टिप्स)

व्हाट्सएप ने अभी तक नए आईटी नियम को लागू नहीं किया है। न ही नए निययों में तीन रेड टिक और ब्लूट टिक जैसा कोई नियम है। अभी तक व्हाट्सएप में सिर्फ दो टिक नजर आते हैं, जिनका मतलब भी आपको बता देते हैं। व्हाट्सएप पर सेंड किए गए मैसेज पर एक टिक बनता है, जिसका मतलब है कि मैसेज सेंड हो गया, जबकि दो टिक का मतलब कि मैसेज डिलिवर हो गया और दो ब्लू टिक का मतलब कि प्राप्तकर्ता ने मैसेज को पढ़ लिया है।

WhatsApp में end-to-end encrypted फीचर है, जिसकी वजह से सेंडर्स और रिसीवर ही मैसेज को एक्सेस कर सकते हैं और इसे बीच में डिकोड नहीं किया जा सकता है। आपकी चैट्स, फोटो, वीडियो, वॉयस मैसेज, डॉक्यूमेंट, स्टेट्स अपडेट और कॉल को व्हाट्सएप भी एक्सेस नहीं कर सकता है।

नए आईटी नियमों की घोषणा 25 फरवरी की गई थी और इन्हें 26 मई से प्रभाव में आना था। लेकिन सोशल मीडिया कंपनियों ने इसे लागू नहीं किया गया है। नई गाइडलाइंस के मुताबिक, सभी सोशल मीडिया कंपनियों को अपने प्लेटफॉर्म पर किसी पोस्ट के लिए शिकायत मिलने पर उसके खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।

जनसत्ता से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: