लोगों को अस्पताल नहीं मिल रहे तो आईपीएल पर इतना धन खर्च क्यों -IPL खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलियन आईपीएल खिलाड़ी एंड्रयू टॉय लीग छोड़ गया वापस

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण इंडियन प्रीमियर लीग को बीच में छोड़कर ऑस्ट्रेलिया रवाना होने वाले राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाय ने आश्चर्य जताते हुए कहा कि जब देश में इतनी बड़ी स्वास्थ्य समस्या है तब फ्रेंचाइजी क्रिकेट पर इतनी बड़ी रकम कैसे खर्च कर रही हैं। हालांकि, टाय ने यह भी कहा कि अगर लीग से कोविड-19 महामारी के कारण पीड़ित लोगों का तनाव कम हो रहा या उम्मीद की कोई किरण दिख रही है तो इसे जारी रहना चाहिये।

टाय ने कहा, ‘इसे भारतीय दृष्टिकोण से देखें, तो ये कंपनियां और फ्रेंचाइजी, सरकार ऐसे समय में आईपीएल पर इतने पैसे कैसे खर्च कर रही हैं, जब देश में लोगों को अस्पताल नहीं मिल पा रहा है।’ टाय ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ‘अगर खेल के जारी रहने से लोगों का तनाव दूर होता है या आशा की एक झलक दिखती है जैसे सुरंग के उस पार प्रकाश होता है। अगर ऐसा है तो मुझे लगता है कि इसे जारी रखना चाहिये।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैं मानता हूं कि हर किसी का सोचने का एक तरीका नहीं है और मैं सभी के विचारों का सम्मान करता हूं।’

उन्होंने कहा कि आईपीएल में खिलाड़ी सुरक्षित है लेकिन उनके मन में यह सवाल रहता है कि वह कब तब सुरक्षित रहेंगे। इस 34 साल के खिलाड़ी ने भारत में कोरोना मामलों के बढने के कारण अपने देश में प्रवेश निषेध होने की आशंका से आईपीएल बीच में ही छोड़ दिया। टाय ने कहा कि उनके गृहनगर पर्थ में भारत से जाने वालों के पृथकवास के बढ़ते मामलों के कारण उन्होंने यह फैसला लिया।

टाय ने रॉयल्स के लिए अब तक एक भी मैच नहीं खेला था और उन्हें एक करोड़ रूपये में खरीदा गया था। टाय ने सोमवार को दोहा से ‘सेन रेडियो’ से कहा, ‘इसके कई कारण है लेकिन मुख्य कारण यह है कि पर्थ में भारत से लौटने वाले लोगों के होटलों में पृथकवास के मामले बढ़ गए हैं । पर्थ सरकार पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करने वालों की संख्या में कटौती करने की कोशिश में है।’

उन्होंने कहा कि बबल में रहने की थकान भी एक कारण है। उन्होंने कहा ,‘मैने सोचा कि देश में प्रवेश नहीं मिले, उससे पहले ही रवाना हो जाऊं । बबल में लंबा समय बिताना काफी थकाऊ है। अगस्त से अब तक मैं सिर्फ 11 दिन बबल से बाहर रहा हूं और अब घर जाना चाहता हूं।’

टाय के बाद रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर के केन रिचर्डसन और एडम जम्पा ने भी ‘व्यक्तिगत कारणों’ से आईपीएल से हटने का फैसला किया।’ मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज नाथन कूल्टर नाइल ने हालांकि कहा कि अभी घर जाने का जोखिम लेने से बायो-बबल में रहना ज्यादा सुरक्षित है।

जनसत्ता से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: