वोल्टास : मज़दूरों के समर्थन में दूसरी यूनियनों का अनशन, पुलिस पहुँची धरना उठाने

पहले दिन श्रमिक संयुक्त मोर्चा अध्यक्ष बैठे क्रमिक अनशन पर

पंतनगर (उत्तराखंड)। वोल्टास श्रमिकों की कार्यबहाली की माँग के साथ आज (22 अप्रैल) श्रमिक संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष दिनेश तिवारी के नेतृत्व में राने मद्रास के साथी क्रमिक अनशन पर बैठे। इससे प्रशासन में खलबली मची और पुलिस बल धरना ख़त्म कराने के लिए वोल्टास गेट पहुँच गई। मज़दूरों के विरोध के बाद पुलिस कल तक का अल्टीमेटम देकर वापस लौट गई।

वोल्टास लिमिटेड पंतनगर में माँगपत्र के विवाद के दौरान यूनियन अध्यक्ष व महामंत्री सहित 9 मज़दूर पिछले डेढ़ साल से गैर क़ानूनी गेटबंदी के शिकार हैं और लगातार आन्दोलन जारी है। प्रबंधन की हठधर्मिता और श्रम विभाग व प्रशासन की चुप्पी से समाधान ना निकलने पर श्रमिक संयुक्त मोर्चा उधम सिंह नगर ने आन्दोलन को ऊपर उठाने का निर्णय लिया और प्रतिदिन इलाके की एक यूनियन के साथी क्रमिक अनशन पर बैठने का तय किया।

पुलिस पहुँची मज़दूरों को उठाने

वोल्टास धरना स्थल पर आज मोर्चा अध्यक्ष के नेतृत्व में अनशन समाप्त होने के बाद पुलिस बल पहुँच गई और धरना ख़त्म करने के दबाव के साथ मज़दूरों को उठाने का प्रयास किया। मज़दूरों ने कहा कि धरना हटाने के लिए कोई से कोई स्टे प्रबंधन को नहीं मिला है। पुलिस का कहना था कि प्रशासन का आदेश है।

उस वक्त धरने पर मज़दूर कम थे, लेकिन डटकर मुकाबला किया, जिससे पुलिस कलतक धरना समाप्त करने की धमकी देते हुए वापस लौट गई।

श्रमिक संयुक्त मोर्चा उतरी समर्थन में

मोर्चा अध्यक्ष ने बताया कि वोल्टास श्रमिकों की कार्य बहाली के इस संघर्ष के साथ मोर्चा पूरी तरीके से खड़ा है और आज से सिडकुल क्षेत्र की यूनियनें प्रत्येक दिन क्रमिक अनशन पर बैठेंगी और वोल्टास मज़दूरों के आंदोलन को मजबूत करेंगी।

श्री दिनेश तिवारी ने कहा कि यह बड़े ही क्षोभ का विषय है कि वोल्टास श्रमिकों की गेट बंदी को डीएलसी महोदय ने भी गैरकानूनी करार दिया है, प्रबंधन द्वारा किसी श्रमिक के ऊपर कोई आरोप भी नहीं है, इसके बावजूद मनमानी और हठधर्मिता जारी है।

उन्होंने कहा कि मोर्चे ने लगातार प्रयास किया पर वोल्टास प्रबंधन के कहने पर ही मोर्चा के निवेदन पर मज़दूरों ने 2 अप्रैल से होने वाली हड़ताल की तिथि को 4 दिन आगे बढ़ाया था। जिला प्रशासन और श्रम अधिकारियों से भी कई बार बातें की गईं, लेकिन कहीं से भी न्याय मिलने की जगह मज़दूरों को ही दबाया जा रहा है। ऐसे में मोर्चा ने चरणबद्ध तरीके से आंदोलन को तेज करने का निर्णय लिया है।

समर्थन में राने मद्रास यूनियन ने किया अनशन

आज राने मद्रास एम्पलाइज यूनियन के साथी दिनेश तिवारी, पुष्कर सिंह खाती व चंदन सिंह नेगी क्रमिक अनशन पर बैठे हैं और समर्थन में कंपनी से पूरी शिफ्ट यहां पर पहुंची है।  वोल्टास से मनोज कुमार व अतीक खान क्रमिक अनशन पर बैठे।

राने मद्रास की पूरी शिफ्ट भी समर्थन में पहुँची। राने मद्रास एंप्लाइज यूनियन ने वोल्टास के प्रबंधन को समस्याओं के समाधान के लिए एक ज्ञापन भी दिया।

इसी क्रम में कल थाई सुमित नील ऑटो कामगार संगठन (जेबीएम) के साथी बैठेंगे। यह आंदोलन अब अलग-अलग फैक्ट्रियों के स्तर पर व्यापक रूप लेगा।

इस मौके पर वोल्टास इम्पलाइज यूनियन के अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि मोर्चे का हाथ हमारे साथ है इसलिए हम मजबूती से अंतिम दम तक संघर्ष जारी रखेंगे और जीत हासिल करेंगे।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: