वोल्टास श्रमिकों की कार्यबहाली करो! सिडकुल में रैली, श्रम भवन पर प्रदर्शन

श्रमिक संयुक्त मोर्चा ने दी चेतावनी, मारुति यूनियन ने दिया समर्थन

रुद्रपुर (उत्तराखंड)। वोल्टास के 9 श्रमिकों की कार्यबहाली की माँग को लेकर 16 अप्रैल को श्रमिक संयुक्त मोर्चा के बैनर तले सिडकुल के मज़दूरों ने वोल्टास कंपनी गेट से रैली निकाली और श्रम भवन पहुंचकर सभा की। सिडकुल में मज़दूरों के बढ़ते उत्पीड़न पर रोष प्रकट हुआ।

सभा के बाद उप श्रम आयुक्त के नाम एक ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में प्रबन्धन पर अनुचित श्रम व्यवहार के लिए कार्यवाही करने और वोल्टास श्रमिकों की कार्यबहाली की माँग को पुरजोर तरीके से उठाया गया। सहायक श्रम आयुक्त ने कहा कि जल्द ही वार्ता बुलाई जाएगी और समस्त समस्याओं का समाधान कराया जाएगा।

आज मज़दूरों को समर्थन देने मारुति सुजुकी वर्कर्स यूनियन मानेसर गुड़गांव के प्रधान अजमेर सिंह व खुशी राम भी पहुँचे थे।

श्रम भवन पर सभा मे वक्ताओं ने कहा कि पूरे औद्योगिक क्षेत्र में प्रबन्धन की मनमानी और मज़दूरों का शोषण बेहद बढ़ गया है। प्रशासनिक कमेटी और श्रम अधिकारी मामलों को निपटाने की जगह उलझा रहे हैं। इससे मज़दूरों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

वक्ताओं ने कहा कि भगवती माइक्रोमैक्स में एक साल पहले दिए कोर्ट के आदेश के बावजूद 303 श्रमिकों की कार्यबहाली नहीं हो रही है। वोल्टास के 9 श्रमिक डेढ़ साल से गैरकानूनी गेटबन्दी के शिकार हैं लेकिन न्याय नहीं मिल रहा है। बजाज मोटर्स, करोलिया, इंटरार्क आदि में मज़दूर बाहर हैं। बीसीएच, महिंद्रा सहित तमाम कंपनियों में माँगपत्र लंबित हैं। लेकिन समाधान नहीं हो रहा है।

वक्ताओं ने रोष प्रकट करते हुए कहा कि पीएफ घोटाले पर कोर्ट के आदेश पर एफआईआर के बावजूद गुजरात अम्बुजा में प्रबन्धन की गिरफ्तारी नहीं हुई, जबकि फर्जी मुक़दमे ठोंकर मज़दूरों का पुलिसिया उत्पीड़न आम बात है।

वक्ताओं के कहा कि ये हाल तब है, जब पुराने श्रम कानून हैं। मोदी सरकार के नए लेबर कोड लागू होने के बाद हालात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है। इसलिए मज़दूरों को एकजुट आंदोलन को तेज करना पड़ेगा।

आज की रैली व सभा में श्रमिक संयुक्त मोर्चा अध्यक्ष दिनेश तिवारी, मारुति सुजुकी वर्कर्स यूनियन मानेसर गुड़गांव के प्रधान अजमेर सिंह, रॉकेट रिद्धि सिद्धि कर्मचारी संघ से गोविंद सिंह, मजदूर सहयोग केंद्र से खुशीराम, टाटा ऑटोकॉम से गोकुलानंद लोनी, बजाज मोटर्स कर्मकार यूनियन से चंदन सिंह मेवाड़ी, ऑटो लाइन एंप्लाइज यूनियन से सुरेश नेगी, नेस्ले कर्मचारी संगठन से महेंद्र सिंह राणा, ब्रिटानिया श्रमिक संघ से आनंद तिवारी, मोनू बिष्ट, महिंद्रा सीआईई श्रमिक संगठन से कमल प्रसाद, भगवती श्रमिक संगठन से नंदन सिंह, बजाज मोटर्स चंदन सिंह मेवाड़ी, संदीप, इंटरार्क मज़दूर संगठन किच्छा से पान मोहम्मद, इंटरार्क मज़दूर संगठन पंतनगर से वीरेंद्र कुमार, थाई सुमित नील ऑटो (जेबीएम), वोल्टास इंप्लाइज यूनियन से मनोज कुमार, मुकेश विश्वकर्मा पुरुषोत्तम कुमार, राजेन्द्र सती आदि शामिल थे। संचालन दिनेश चंद्र पंत ने किया।

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: