कृषि कानूनों, मजदूर समस्याओं को लेकर भट्ठा मजदूरों का रोष प्रदर्शन

माँगें नहीं मानी तो 15 अप्रैल से आंदोलन होगा तेज

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानून व किरत कानून रद करने की मांग को लेकर भट्ठा मजदूरों ने बनासर बाग में विशाल रोष रैली की। सीटू पंजाब के उपप्रधान व पूर्व विधायक तरसेम जोधा ने कहा कि केंद्र सरकार देश की जमीन, कारखाने, सरकारी संपति सभी कारपोरेट घरानों के हवाले करने जा रही है, जिसके खिलाफ लंबे समय से किसान, मजदूर, मुलाजिम सभी वर्ग संघर्ष करते आ रहे हैं, लेकिन उन्हें गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है।

यूनियन के राज्य नेता रणजीत सिंह, सिदर सिंह, चरणजीत सिंह ने कहा कि यदि प्रशासन ने भट्ठा मजदूरों की मांगें सरकार से पूरी न करवाई तो 15 अप्रैल से संघर्ष तेज किया जाएगा। मजदूरों ने मार्च 2020 से पंजाब में कम से कम वेतन तुरंत जारी करने, रद किए 44 किरत कानून बहाल करने, चार लेबर कोड रद करने, किसान आंदोलन में किए झूठे पर्चे रद करने की मांग की।

मौके पर पहुंचे तहसीलदार संगरूर व लेबर इंस्पेक्टर अरूण कुमार ने मजदूरों को आश्वासन दिलाया कि 15 अप्रैल को होने वाली बैठक से पहले मुद्दे का हल किया जाएगा। इस मौके पर मान सिंह, प्रीतम सिंह, नजीर मोहम्मद, बलदेव सिंह, पाल सिंह, चूहड़ सिंह आदि उपस्थित थे।

जागरण से साभार

%d bloggers like this: