बॉयलर फटने से 2 मजदूरों की मौत, सेफ्टी वाल्व खराब था फिर भी कराया काम

नांगलिया फूड प्रोडक्ट्स फैक्ट्री, गोरखपुर हादसा

गोरखपुर के नांगलिया फूड प्रोडक्ट्स फैक्ट्री में बॉयलर गड़बड़ी की वजह से फटा था। बॉयलर का सेफ्टी वॉल्व काम नहीं कर रहा था। इस वजह से बॉयलर फट गया और दो लोगों की जान चली गई। सहायक निदेशक कारखाना की ओर से इस संबंध में सहायक निदेशक बॉयलर को प्रारंभिक तौर पर जानकारी दे दी गई है। सहायक निदेशक कारखाना की ओर से फैक्ट्री की विस्तृत जांच सोमवार तक होने की संभावना है। दूसरी तरफ जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिए हैं।

शुक्रवार शाम करीब पांच बजे गीडा सेक्टर-13 स्थित बिस्किट, नमकीन और टॉफी बनाने वाली फैक्ट्री नांगलिया फूड प्रोडक्ट्स का बॉयलर तेज धमाके के साथ फट गया। इसमें एक वर्कर की तो मौके पर ही मौत हो गई। वहीं गंभीर रूप से घायल एक अन्य मजदूर ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ दिया। घटना के बाद फैक्ट्री संचालक अनिल नांगलिया ने सारे मानकों को सही बताया था, लेकिन सहायक निदेशक कारखाना की ओर से प्रारंभिक तौर पर की गई जांच में बॉयलर का मेंटेनेंस सही नहीं पाया गया।

जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि बॉयलर ज्यादा गर्म होने से हादसा हुआ था। मामले की छानबीन कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। फैक्ट्रियों की हर तीन महीने ऑडिट कराई जाती है। गीडा क्षेत्र में इस तरह का पहला हादसा हुआ है। आगे इस तरह की घटना न हो, इसे सुनिश्चित कराया जाएगा।

श्रम विभाग के कारखाने के सहायक निदेशक एसके सिंह ने बताया कि तकनीकी जांच की जा रही है। प्रथम दृष्टया बॉयलर में जो भाप बनती है उसका सेफ्टी वॉल्व ठीक से काम नहीं कर रहा था। इस कारण बॉयलर के अंदर का दबाव बाहर नहीं निकल सका और यह हादसा हुआ है। असिस्टेंट डायरेक्टर बॉयलर को भी इस संबंध में जानकारी दे दी गई है। उनके स्तर से भी सुरक्षा के मानकों की जांच की जाएगी। फैक्ट्री में कोई जिम्मेदार मौजूद नहीं था। जल्द ही विस्तृत जांच की जाएगी और रिपोर्ट निदेशक कारखाना कानपुर को भेजी जाएगी।

अमर उजाला से साभार

%d bloggers like this: