गांधी स्टील फैक्ट्री में विस्फोट, एक श्रमिक बुरी तरह झुलसा

अमानवीयता : गंभीर अवस्था मे श्रमिक को उसको घर के बाहर फेंककर प्रबन्धन फरार

गिरिडीह : ओडि़सा के श्री जगरन्नाथ स्टील के करीब साठ लाख रुपये की चोरी गई इंगोड को खपाने के लगे आरोप से गिरिडीह औद्योगिक क्षेत्र महतोडीह विश्वासडीह स्थित गांधी स्टील नामक फैक्ट्री अभी उबर भी नहीं पाई थी कि मंगलवार रात को उक्त फैक्ट्री की भट्ठी जोरदार धमाके के साथ ब्लास्ट कर गई। इस हादसे में गांडेय थाना अंतर्गत डहुआटांड़ वर्तमान में अजीडीह मोड़ निवासी फैक्ट्री कर्मी छेदी प्रसाद यादव गंभीर रूप से झुलस गया। झुलसे कर्मी को किसी ने उसके घर के बाहर फेंककर फरार हो जाने की बात कही जा रही है। इसकी जानकारी होने के बाद स्वजनों ने उसे इलाज के लिए शहर स्थित एक नर्सिग होम में भर्ती कराया।

इधर इस हादसे के करीब 18 घंटे बाद महतोडीह पिकेट के पुलिस पदाधिकारी इलाजरत घायल का बयान लेने बुधवार को नर्सिगहोम पहुंचे थे। घायल बयान देने की स्थिति में नहीं था। इस संबंध में घायल कर्मी की पत्नी ममता देवी ने बताया कि पति छेदी गांधी स्टील में मजदूर का काम करते हैं। मंगलवार शाम को फैक्ट्री का प्रबंधक घर आकर उसे काम के लिए अपने साथ फैक्ट्री ले गए। रात करीब साढे नौ-दस बजे किसी ने दरवाजे पर दस्तक दी। दरवाजा खोलने पर घर के बाहर जमीन पर पति को घायल अवस्था में देखा। वह रोते गिड़गिड़ाते हुए वाहन से आए लोगों को अस्पताल जाने की बात कहती रही, लेकिन वे लोग फरार हो गए।

छेदी के भतीजे संतोष यादव ने बताया कि चाचा गांधी स्टील में करीब पांच वर्षो से काम कर रहे हैं। चाचा स्वजनों के साथ अजीडीह मोड़ स्थित किराए के मकान में रहते हैं। रात को फुफेरा भाई धीरज ने घटना के बारे में सूचना दी। सूचना मिलते पर वे लोग अजीडीह मोड़ पहुंचे और घायल को इलाज के लिए नर्सिग होम में भर्ती कराया। उसने कहा कि अभी तक ना तो पुलिस बयान लेने आई है और ना ही फैक्ट्री के कोई पदाधिकारी या कर्मी हालचाल लेने आए हैं।

उसने आरोप लगाते हुए बताया कि गांधी स्टील फैक्ट्री में झुलसने के बाद प्रबंधन इलाज के नाम पर खानापूर्ति कर छेदी को घर के बाहर फेंककर फरार हो गया। इधर काफी घंटे बाद महतोडीह पिकेट के पुलिस पदाधिकारी पीएन राम एवं आरएन मुंडा घायल छेदी का बयान लेने नर्सिग होम पहुंचे। घटना के बारे में पुलिस पदाधिकारियों ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। यहां तक कि महतोडीह पिकेट के प्रभारी कौन हैं, इसका भी स्पष्ट जवाब नहीं दिया गया। दोनों पुलिस पदाधिकारी एक दूसरे को प्रभारी बता रहे थे।

जागरण से साभार

%d bloggers like this: