कॉरपोरेट-पक्षीय कृषि कानूनों व मज़दूर-विरोधी श्रम संहिताओं के ख़िलाफ़ मज़दूर-किसान एकजुटता

बीकेयू (एकता) उग्रहान के साथ संघर्षशील यूनियनों के मंच मासा का प्रदर्शन

टिकरी बॉर्डर। 13 मार्च को शहीद उधम सिंह ने लंदन में माइकल ओ डायर को मारकर 1919 के जलियांवाला बाग हत्याकांड का बदला लिया था। इस ऐतिहासिक प्रतीक दिवस पर मोदी जमात की मज़दूर विरोधी नीतियों और सरकार-पूँजीपति गठबंधन के ख़िलाफ़ मज़दूर किसान एकता का प्रदर्शन साझे दुश्मन के ख़िलाफ़ साझे संघर्ष की मजबूती का ऐलान भी बन गया।

टिकरी बॉर्डर के पकौड़ा चौक पर मज़दूर अधिकार संघर्ष अभियान (मासा) से जुड़े संगठनों ने कॉरपोरेट-पक्षीय 3 कृषि कानूनों व मज़दूर-विरोधी 4 श्रम संहिताओं के ख़िलाफ़ आवाज़ बुलंद की और मज़दूर-किसान एकता का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम का आयोजन भारतीय किसान यूनियन (एकता) उग्रहान ने किया था।

बीकेयू (एकता) उग्रहान के मंच पर संघर्षशील यूनियनों के साझा मंच मासा से जुड़े मज़दूर संगठनों ने बहादुराना किसान आंदोलन के पक्ष में देशी विदेशी कॉरपोरेट व फासीवादी मोदी सरकार के खिलाफ मज़दूर किसान एकता का नारा पुरज़ोर तरीके से बुलंद किया।

संगठनों ने जन विरोधी कृषि क़ानूनों और श्रम संहिताओं को तत्काल रद्द करने तथा देश की संपदाओं को बेचने, निजीकरण व महँगाई पर रोक लगाने की माँग की।

वक्ताओं ने देश के सभी मज़दूर, किसान, विद्यार्थी, युवा और इंसाफ पसंद ताक़तों से यह आह्वान किया कि वे हर हाल में तीन कृषि क़ानूनों के साथ दो अध्यादेशों और मज़दूर विरोधी कानूनों का जबरदस्त मुख़ालफ़त करें।

सभी मज़दूर संगठनों ने यह शपथ लिया कि हम भारत के मज़दूर, सांझे दुश्मन के खिलाफ संघर्ष को जीत की मंज़िल तक पहुंचाने के लिए किसानों और इंसाफ पसंद ताक़तों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ेंगे और जीतेंगे।

इस अवसर पर आमसभा में TUCI व क्रांतिकारी सांस्कृतिक मंच (कसम) की ओर से साथी तुहिन, IFTU सर्वहारा के आशु, प्रख्यात गीतकार व कवि बल्ली सिंह चीमा तथा अन्य साथियों ने जनगीत प्रस्तुत किया। हरियाणा के सांस्कृतिक मंच ने आकर्षक नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया।

सभा को ट्रेड यूनियन सेन्टर ऑफ इंडिया (TUCI) की ओर से विजय कुमार, IFTU (सर्वहारा) से सिद्धान्त, मज़दूर पत्रिका से संतोष, जन संघर्ष मंच हरियाणा से पाल सिंह, इन्क़लाबी मज़दूर केंद्र से श्यामबीर, मज़दूर सहयोग केंद्र से राम निवास, ग्रामीण मज़दूर यूनियन, बिहार से जय किशोर ने संबोधित किया।

इसके साथ बेलसोनिक यूनियन के महेंद्र कपूर, मारुति सुजुकी वर्कर्स यूनियन के विकास, सुजुकी बाइक यूनियन के जगपाल, मनरेगा मज़दूर यूनियन के सुरेश कुमार, साथी अवतार सिंह (उत्तराखंड), सायन, विदूषी, राधेश्याम, बिट्टू आदि कई साथियों ने भी भागीदारी निभाई।

कार्यक्रम में मासा के अन्य घटक संगठनों व यूनियनों के कई साथियों ने शिरकत की।

%d bloggers like this: