सड़क से आसमान तक महंगाई की मार, अब विमान ईंधन में लगी आग

आम जनता त्रस्त, सरकार-पूँजीपति मस्त

सड़क से लेकर आसमान तक में सफर करना दिन-ब-दिन महंगा होता रहा है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी आग से सड़क पर सफर करने में अब जेब काफी ढीली करनी पड़ रही है। वहीं घरेलू एलपीजी सिलिंडर के दाम बढ़ने से कीचन का बजट भी गड़बड़ा रहा है। पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दाम की वजह से विमान ईंधन यानी एटीएफ की कीमतों में सोमवार को 6.5 प्रतिशत की बड़ी वृद्धि हुई। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में तेजी आ रही है, जिससे विमान ईंधन महंगा हुआ है।

सार्वजनिक क्षेत्र की ईंधन कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार एटीएफ के दाम 3,663 रुपये प्रति किलोलीटर या 6.5 प्रतिशत बढ़ाए गए हैं। इससे राष्ट्रीय राजधानी में विमान ईधन का दाम 59,400.91 रुपये प्रति किलोलीटर की ऊंचाई पर पहुंच गया है।  फरवरी से विमान ईंधन कीमतों में यह तीसरी वृद्धि है। इससे पहले 16 फरवरी को विमान ईंधन के दाम 3.6 प्रतिशत बढ़े थे। एक फरवरी को विमान ईंधन के दाम 3,246.75 रुपये प्रति किलोलीटर बढ़ाए गए थे।

सोमवार को ब्रेंट कच्चा तेल बढ़त के साथ 65.49 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। यह एक साल में इसका सबसे ऊंचा स्तर है।  हालांकि, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार दूसरे दिन कोई वृद्धि नहीं की गई। दिल्ली में पेट्रोल 91.17 रुपये और मुंबई में 97.57 रुपये प्रति लीटर है। दिल्ली में डीजल 81.47 रुपये और मुंबई में 88.60 रुपये प्रति लीटर पर है।

पिछले महीने राजस्थान और मध्य प्रदेश में कुछ स्थानों पर पेट्रोल का दाम 100 रुपये प्रति लीटर को पार कर गया था।  ये दोनों राज्य ईंधन पर सबसे अधिक मूल्य वर्धित कर (वैट) लेते हैं। मुंबई में शनिवार को ब्रांडेड/प्रीमियम पेट्रोल 100 रुपये को पार कर गया। इस समय यह 100.35 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

हिन्दुस्तान से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे

%d bloggers like this: