पुणे की फ़ैक्ट्री में आग, मैहर के सीमेंट फ़ैक्ट्री में विस्फोट, 3 मज़दूर गंभीर

हादसे दर हादसे : दो दिन में दो घटना, मज़दूर बेहाल

महाराष्ट्र के पुणे में फ़ैक्ट्री में शनिवार को जबरदस्त आग लगा गई। वहीं गुरुवार को सतना जिले के मैहर स्थित केजेएस सीमेंट फैक्ट्री में बड़ा हादसा हुआ है। सब स्टेशन पैनल में विस्फोट होने से तीन मज़दूर बुरी तरह झुलस गए जिन्हें गंभीर अवस्था में मैहर के अस्पताल से जबलपुर रेफर किया गया है।

पुणे के फैब्रिक फ़ैक्ट्री में भीषण आग

महाराष्ट्र में पुणे के शिरूर इलाके के सनसवाड़ी में एक फैब्रिक निर्माण की फैक्ट्री में भीषण आग लग गया है। फैक्ट्री में आग लगने के बाद फैक्ट्री के अंदर से निकलने वाला गहरा काला धुंआ आस-पास के इलाके में फैल गया है।

इस दौरान आग को बेकाबू होने से रोकने के लिए पड़ोस में स्थित सभी फैक्ट्रीज को फिलहाल बंद कर दिया गया है और आग पर काबू पाने का प्रयास जारी है।

केजेएस फ़ैक्ट्री में विस्फोट से 3 की हालत गंभीर

केजेएस फ़ैक्ट्री के अंदर सब स्टेशन पैनल में अचानक ब्लास्टिंंग हो गई। यह ब्लास्टिंग इतनी खतरनाक थी कि इसकी चपेट में आए तीन मज़दूर गंभीर रूप से झुलसकर गए। तीनों घायल को मैहर सिविल अस्पताल में लाया गया। जहां से उनकी हालत गंभीर होने पर जबलपुर रेफर कर दिया गया है।

जानकारी अनुसार घायलों में उचेहरा के करही निवासी विपिन सिंह परिहार और उचेहरा के ही सौरभ सिंह हैं। इसके साथ एक व्यक्ति और घायल है जिसका नाम अब तक सामने नहीं आ पाया है।

गुरुवार को केजेएस सीमेंट फैक्टी मे शडडाउन का काम चल रहा है। बताया जा रहा है कि घायल इलेक्ट्रिशियन का काम करते थे, जिसमे घटिया निर्माण कार्य, एवं बिना सेफ्टी किट के काम कराया जा रहा था।

दुर्घटनाएं आम, पीड़ित मज़दूर

इस हादसे के बाद फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा चुप्पी साध ली गई है। प्रबंधन द्वारा मीडिया को भी मौके पर नहीं जाने दिया गया।
वहीं मजदूरों का कहना है कि फ़ैक्ट्री के कर्मचारी आज जिदंगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं। फ़ैक्ट्री के अंदर अक्सर घटना दुर्घटना होती रहती है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर हमेशा खाना पूर्ति की जाती। यही वजह है कि हमेशा कोई न कोई गरीब कर्मचारी और मजदूर ऐसी बड़ी दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हैं।

%d bloggers like this: