छोटू राम की जयंती पर हज़ारों किसानों ने ली संघर्ष की शपथ

16 फ़रवरी, सांपला: किसान नेता सिर छोटू राम की जयंती पर सैकड़ों किसान उनकी जन्मभूमि, गढ़ी सांपला में कल दिनाक 16 फ़रवरी में इकट्ठा हुए। कार्यक्रम में किसान आंदोलन के नेता जोगिंदर सिंह उग्रहान, गुरनाम सिंह चढूनी, बलबीर सिंह राजेवाल, राकेश टिकैत व मशहूर कलाकार कंवर ग्रेवाल, अभिनेत्री सिनिया मन्न, गगन हरियाणवी और अजय हुड्डा भी शामिल हुए।

सर छोटू राम अपने जीवन काल में दबे किसानों की समस्याओं को उठाने के लिए जाने जाते हैं। उनकी सरकार के तहत सूतकारों द्वारा कर्ज़ ना चुका पाने वाले किसानों की ज़मीन और पशुओं की कुर्की पर कानूनी रोक लगवाई व क्षेत्र में सरकारी मंडियों की स्थापना की।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जोगिंदर सिंह उग्रहान ने काले कानूनों की निंदा करते हुए कहा की सरकार की हरित क्रांति ने देश के किसानों पर 12 लाख करोड़ रुपए का कर्ज चढ़ा दिया है। उन्होंने प्रधान मंत्री की “आंदोलनजीवी” के जुमले पर टिप्पणी करते हुए कहा की अगर आंदिलनजीवी नहीं होते तो देश आज़ाद भी नहीं होता। राकेश टिकैत ने कहा की किसान अब पूरे देश मैं पंचायतें करेगा, महाराष्ट्र, गुजरात, बंगाल इत्यादि हर जगह जाएगा। सिंघू बॉर्डर और 40 प्रतिनिधियों के नेतृत्व को समर्थन देते हुए कहा की हमारा मंच भी वही है और हमारे पंच भी वही हैं। उन्होंने मांगों को दोहराते हुए अपनी बात खतम की।भारतीय किसान यूनियन (राजेवाल) के नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा की देश को राजनैतिक आजादी मिल गई पर अब आर्थिक आज़ादी की लड़ाई चल रही है। सरकार ने सारे संसाधन कॉरपोरेट के हाथों में दे दिया है। देश का हर वर्ग इस आन्दोलन से जुड़ा है।भारतीय किसान यूनियन हरियाणा के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा की सर छोटू राम ने हमारा रोजगार बचाया था, उस रोजगार को हमें अपने बच्चों के लिए बचाना है और संघर्ष को और टेक्स करने की बात कही।

अभिनेत्री सोनिया मन्न ने अपने पिता की याद साझा करते हुए बताया की उनका पूरा जीवन आन्दोलन की अगुआई करने में निकल गई, और अब उनके ना होने पर वे आन्दोलन में उनकी आवाज़ ले कर आई हैं। उन्होंने कहा की “हम कलाकार हमारे किसान संगठनों के आगुओं के वोलंटीयर की तरह काम कर रहे हैं, पूरी अनुशासन से हमें आंदोलन को बढ़ाना पड़ेगा।” गायक कंवर ग्रेवाल, गगन हरियाणवी और अजय हुड्डा ने अपनी गायकी से सभा में ऊर्जा और उत्साह भर दिया।

%d bloggers like this: