मोदी सरकार बंद करेगी सरकारी कंपनी स्कूटर्स इंडिया

सभी सरकारी कंपनियों को बेचने/बंदी का धंधा जारी

लखनऊ। मोदी सरकार जनता के खून-पसीने से खड़े उद्योगों को बेचने, बन्द करने में तेजी ला दी है। अब लैंब्रेटा और विजय सुपर जैसे लोकप्रिय स्कूटर व विक्रम टेम्पो बनाने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड जल्द बंद होने जा रही है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने कंपनी को बंद करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति सीसीईए ने बुधवार को हुई बैठक में लखनऊ की कंपनी स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड को बंद करने की मंजूरी दे दी है।

उल्लेखनीय है कि किसी जमाने मे स्कूटर इंडिया लम्ब्रेटा, विजय सुपर जैसे स्कूटर और विक्रम टेम्पो व लेंब्रो बनाती रही है। कंपनी विक्रम ब्रांड के तहत कई प्रकार के तिपहिया का भी निर्माण करती है।

1991 में नई आर्थिक नीतियों का सीधा असर स्कूटर इंडिया पर भी पड़ा। इसे बीआईएफआर के तहत बीमार उद्योगों की सूची में डाल गया। लेकिन धीरे-धीरे कांग्रेस शासन के दौर से अबतक ज्यादातर ब्रांड बनाने बन्द हुए। लेकिन बिक्रम टेम्पो बनता रहा। इसका इलेक्ट्रिक मॉडल अभी भी बेहतरीन है।

बन्द करने का प्रस्ताव मंजूर

कंपनी को बंद करने के प्रस्ताव को सरकार की मंजूरी के बाद भारी उद्योग मंत्रालय इसको बंद करने की प्रक्रिया शुरू करेगा। सूत्रों के अनुसार स्कूटर्स इंडिया लिमिटेड को बंद करने के लिए 65.12 करोड़ रुपए की जरूरत होगी। यह राशि सरकार से ऋण के रूप में ली जाएगी।