निजीकरण के विरोध में एलआईसी कर्मियों का विरोध प्रदर्शन

एलआईसी के 65वें स्थापना दिवस पर एसोसिएशन की हुंकार

महोबा। कानपुर डिवीजन इंश्योरेंस एंपलाइज एसोसिएशन की ओर से मंगलवार को भारतीय जीवन बीमा निगम की 65वीं वर्षगांठ मनाई गई। इस दौरान कर्मचारियों ने निजीकरण के लिए विरोध जताया। कहा कि यदि मांगेें पूरी नहीं हुई तो आंदोलन को मजबूर होंगे। एलआईसी कार्यालय में आयोजित समारोह में अध्यक्ष तंजीम ने कहा कि एलआईसी कर्मचारियों और बीमा क्षेत्र के लिए 19 जनवरी 1956 एक एतिहासिक दिन था।

आज ही के दिन भारत में कार्य कर रही 245 देशी व विदेशी निजी बीमा कंपनियों के प्रबंधन सरकार ने एक अध्यादेश के माध्यम से अपने हाथ में ले लिया था। जो देश के बीमा क्षेत्र के राष्ट्रीयकरण की ओर यह पहला और प्रमुख कदम था। एसोसिएशन के सचिव सुरेश सोनी ने कहा कि सरकार निजीकरण को बढ़ावा दे रही है, जिसका सभी विरोध कर रहे हैं। बैठक के बाद कर्मचारियों ने एलआईसी गेट पर हाथों में तख्तियां लेकर विरोध जताया और निजीकरण किसी भी कीमत पर बर्दाश्त न करने की चेतावनी दी।

अमर उजाला से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे