18 जनवरी, महिला किसान दिवस : किसान आन्दोलन में क्या कर रही हैं औरतें?

महामहिम, वे एक महाकाव्य, एक शानदार इतिहास लिख रही हैं!

देश की सर्वोच्च अदालत ने पूछा कि किसान आन्दोलन में महिलाएं क्या कर रही हैं? इसकी देशभर में तीखी प्रतिक्रिया हुई। किसान संगठनों ने 18 जनवरी को महिला किसान दिवस, 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचंद बोस का जन्मदिवस मनाने और 26 जनवरी को किसान परेड निकालने की घोषणा की है। महामहिम का ज़वाब साथी दिगम्बर ने अपनी वाल पर बड़े ही चुटेले अंदाज़ में दिया है। महिला किसान दिवस पर प्रस्तुत है- किसान आन्दोलन में क्या कर रही हैं औरतें…

फलाने, पुत्र- अलाने ने पूछा कि औरतें किसान आन्दोलन में क्या कर रही हैं?

फलाने, आप उधार की महँगी बम्बूकार्ट से उतर के जमीन पर पाँव धरिये, दिल्ली के चौगिरदे डेरा जमाये किसान जत्थेबंदियों के बीच जाईये, और देखिए कि औरतें क्या कर रही हैं।

राजस्थान के किसान आंदोलन में भरी महिलाओं ने ऊर्जा : प्रगतिशील महिला एकता  केंद्र

वे सदियों से अपने पाँवों में पड़ी बेड़ियों को तोड़ने पर आमादा हैं। वे पाँव की जंजीर की परवाह किये बगैर ताण्डव नृत्य कर रही हैं।

Poster Dadis of farmers Protest: किसान आंदोलन की दो धाकड़ दादी, जिन्होंने  कंगना की बोलती की बंद - Navbharat Times

वे फलाने के फैसले में अपने प्रति इस दोयम दर्जे के सलूक और लैंगिक भेदभाव का पूर्वाभास करके कि “किसानों को विरोध प्रदर्शन का अधिकार है,” लेकिन “औरतें वहाँ क्या कर रही हैं?” आन्दोलन की शुरुआत से ही बढचढ़कर हिस्सेदारी कर रही हैं, ताकि यह सनद रहे कि वे मर्दों के बराबर हैं, कि वे किसान हैं और इस जम्हूरी मुल्क में बहुत से जमूरे 2021 में भी उनकी इस बराबरी पर आए दिन सवाल उठाते रहते हैं और उनको घर की शोभा बताते हुए संविधान की अवमानना करते रहते हैं, जैसाकि फलाने के इस फैसले में भी दर्ज हुआ।

15 women over 70 years are giving their best in farmers movement at Singhu  Border Delhi - दिल्ली : किसान आंदोलन में जान फूंक रहीं 70 वर्ष से अधिक की  15 महिलाएं

वे वहाँ क्या कर रही हैं, ये पूरी दुनिया देख रही है, सिवाये फलाने जी के।

वे आन्दोलन के मंच से भाषण दे रही हैं। वे वहाँ जीवन, संघर्ष, सृजन और उम्मीद के गीत गा रही हैं,

Farmer Protest Today Latest News : Punjabi Women Joined Kisan Andolan In  Sonipat - Farmer Protest : नारे लगाती, जोश दिखाती महिलाओं का जज्बा देख आप  भी करेंगे सलाम - Amar Ujala Hindi News Live

वे समाचार जुटा रही है, वीडियो बना रही हैं और अपने तजुर्बों से हासिल सच्चाई का बयान करते हुए वीडियो बनानेवालों को अचरज में डाल रही हैं, आजकल की भाषा में वे अपने विचारों के साथ वायरल हो रही हैं।

Kisan Andolan: Bhartiya Kisan Union training women to lead Kisaan Parade on  26 January - किसान आंदोलन : हरियाणा में महिलाओं ने थामी स्टेयरिंग, ट्रैक्टर  रैली की अगुवाई के लिए दी जा

बिकाऊ मीडिया के बेहूदे सवालों के जवाब में वे ठेठ जुबान में समय का सच बोल रही हैं और जनता के पक्ष में दर्शन के नये-नये पन्ने खोल के रख दे रही हैं।

वे सैकड़ों मील दूर से अपनी सहेलियों के साथ ट्रैक्टर चलकर पहुँच रही हैं। वे लंगर में अपने मर्द साथियों के साथ खाना बना रही हैं।

दिल्ली बार्डर पर पहली कतार में किसानों के साथ डटी हैं 'पंजाब की बेटियां' - kisan  andolan farmers in first line on delhi border

वे साफ-सफाई कर रही हैं। वे लाठी लेकर रात में तंबुओं के बाहर पहरे दे रही हैं।

वे प्रेस नोट टाइप कर रही हैं, वे पोस्टर बना रही हैं।

वे बच्चों को सुला रही हैं, वे बुजुर्गों की मरहम-पट्टी कर रही हैं, उनको दवा खिला रही है। वे शहीद साथियों का मातम कर रही हैं और एक दूसरे को दिलासा दे रही हैं। वे संकल्प में मुट्ठियाँ बाँध रही हैं और चीखकर नारे लगा रही हैं….

Farmers guarding the women involved in the movement every two hours shift -  Haryana Bahadurgarh Common Man Issues News

वे आने वाले कल की बेहतरी के लिए जी-जान से जुटी हैं।

वे हमारे पूरे कौम को हताशा, निराशा और पस्तहिम्मती के धुंध से निकालकर आशा, उत्साह और सक्रियता की धूप में ला रही हैं।

800 महिला किसानों का चीफ जस्टिस को खुला पत्र, आंदोलन में महिलाओं की  भागीदारी पर टिप्पणी को बताया गलत

वे एक महाकाव्य, एक शानदार इतिहास लिख रही हैं।

कृषि आंदोलन में महिला किसानों का ग़ायब चेहरा | न्यूज़क्लिक

(मैं चाहता हूँ कि जिन साथियों के पास औरतों के कारनामों से जुड़े आन्दोलन के चित्र हों, वे कमेन्ट में डालकर किसान आन्दोलन में औरतों की नाना प्रकार की भूमिकाओं को प्रमाणित और पुष्ट करें, ताकि फलाने के अनर्गल प्रलाप को समुचित जवाब मिले।)

-दिगम्बर के वाल से

भूली-बिसरी ख़बरे