दुकानों में लगे पोस्टर- अंधभक्तों का दुकान में आना मना है

किसान आंदोलन के समर्थन में पंजाब के दुकानदार

केंद्र की ओर से पारित किए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के पक्ष में अब पंजाब में दुकानदार भी आ गए हैं। पंजाब के मोहाली में कुछ दुकानदारों ने एक नए तरीके से अन्नदाताओं को समर्थन दिया है। 

मोहाली के दुकानदारों ने बिजनेस की परवाह किए बिना ही दुकानों के बाहर पोस्टर और स्टीकर लगाना शुरू कर दिए हैं। इसमें साफ शब्दों में लिखा है कि अंधभक्तों को यहां आने की अनुमति नहीं है। हम अपने किसानों का समर्थन करते हैं। यह पोस्टर एक दुकान या गांव में नहीं, बल्कि कई नामी स्टोरों पर लगे हुए दिख रहे हैं। इन दुकानदारों का कहना है कि हम अन्नदाता के साथ हैं। भले ही इसके लिए हमें नुकसान ही क्यों न उठाना पड़े।

मोहाली पंजाब के सबसे अहम शहरों में से एक है और यहां पर 86 फीसदी लोग पढ़े लिखे हैं। इनमें ज्यादातर लोग नौकरी पेशा हैं। लगभग हर घर से एक व्यक्ति विदेश में सैटल है। लोगों का कहना है कि भले ही आज हम कहीं भी पहुंच जाएं, लेकिन हमारे अंदर भी एक किसान जिंदा है। इतना ही नहीं, कुछ समय पहले जब देश के प्रधानमंत्री की ओर से मन की बात कार्यक्रम प्रायोजित किया गया था तो किसान यूनियन के न्योते पर मोहाली के दुकानदारों ने बाकायदा एक एलईडी मार्केट में लगाई थी। इसमें जब प्रधानमंत्री मन की बात कर रहे थे, तो लोग थालियां बजाकर इसका विरोध कर रहे थे।

शहर के जो लोग किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली नहीं जा सकते। उनकी मदद के लिए अब बाजारों में खास सहयोग दान केंद्र बनाए गए हैं। यहां पर किसान यूनियन से जुड़े लोग और समाजसेवी लोग बैठ रहे हैं। इनके माध्यम से लोगों को नए कृषि के तीन कानूनों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इतना ही नहीं अगर कोई व्यक्ति अन्नदाता की सहायता करना चाहता है तो वहां पर जाकर सहयोग दे सकता है।

अमर उजाला से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे