राउरकेला इस्पात संयंत्र में गैस रिसाव, 4 की मौत, 6 गंभीर

लगातार हादसे : फैक्ट्रियां बन रही हैं मौत का सौदागर

भुवनेश्वर: राउरकेला इस्पात संयंत्र (RSP) में बुधवार सुबह जहरीली गैस रिसाव से चार श्रमिकों की मौत हो गई जबकि कुछ श्रमिक बीमार हो गये. यह घटना कोयला रसायन विभाग (सीसीडी) में सुबह हुई. बीमार श्रमिकों को राउरकेला जनरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त 10 श्रमिक काम कर रहे थे. जिनमें 4 श्रमिक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई. 6 श्रमिक जहरीली गैस की वजह से बीमार हो गये. वहीं, इस घटना के कारणों की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है और संयंत्र में सभी आपातकालीन प्रोटोकॉल तत्काल प्रभाव से सक्रिय कर दिए गए हैं.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आरएसपी के कोयला रसायन विभाग में हादसा जब सुबह हुआ, तो वहां 10 श्रमिक काम कर रहे थे. आरएसपी के अधिकारियों ने कहा, ‘‘निजी कम्पनी द्वारा संविदा पर रखे गए चार कर्मचारियों को सुबह नौ बजे कुछ परेशानी होने लगी, इसके बाद उन्हें संयंत्र के स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया और बाद में इस्पात जनरल अस्पताल (आईजीएच) के आईसीयू में भर्ती कराया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.” उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान गणेश चंद्रा पिल्लै (55), रबिन्द्र साहू (59), अभिमन्यु शाह (33) और ब्रम्हानंदा पांडा (51) के तौर पर हुई है.

अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच के अनुसार श्रमिकों की मौत इकाई में ‘कार्बन मोनोक्साइड’ के रिसाव की वजह से हुई. उन्होंने बताया कि कुछ अन्य लोग बीमार भी हुए हैं और ‘आरएसपी डिस्पेंसरी’ में उनका इलाज चल रहा है.

आरएसपी के अधिकारियों ने कहा, ‘‘घटना के कारण का पता लगाने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है. संयंत्र में काम समान्य रूप से चल रहा है.” आरएसपी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपक चतराराज ने श्रमिकों की मौत पर शोक व्यक्त किया और कहा कि प्राधिकारी उनके परिजन को पूरा सहयोग करेंगे.

भूली-बिसरी ख़बरे