चंडीगढ़ : रोडवेज निजीकरण के विरोध में 2 घंटे का होगा चक्का जाम

सीटीयू कर्मियों ने किया विरोध का ऐलान

सीटीयू में ज्यादातर काम अब निजी हाथों में दिए जा रहा है। हाल ही में 40 इलेक्ट्रिक बसें भी शेयरिंग बेस पर चलाए जाने के लिए टेंडर प्रोसेस शुरू किया है। लेकिन सीटीयू में ही काम करने वाले कर्मचारी अब इसका विरोध कर रहे हैं। सीटीयू वर्कर्स यूनियन चंडीगढ़ मंगलवार को दो घंटे के लिए लोकल बसों का चक्का जाम कर सेक्टर-17 में विरोध प्रदर्शन करेंगे।

यूनियन लीडर्स की तरफ से कहा गया है कि निजी हाथों में ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट को सौंपा जा रहा है, इसके चलते पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम प्रभावित होगा। इसमें सरकार की आय के मुकाबले प्राइवेट काॅन्ट्रेक्टर्स की इनकम ज्यादा हो रही है लेकिन इस पर कोई चेक नहीं है।

अब 40 इलेक्ट्रिक बसें जिनको शेयरिंग बेस पर प्राइवेट फर्म के साथ चलाने की तैयारी है उसको लेकर कहा गया है कि प्रशासन इन बसों को सीटीयू की 417 बसों की फ्लीट में शामिल करें न कि प्राइवेट काॅन्ट्रेक्टर्स के साथ मिलकर चलाएं। यूनियन की तरफ से आरोप लगाया गया कि प्रशासन पूरी तरह से ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट को निजी हाथों में दिए जाने की तरफ काम कर रहा है जो कि गलत है।

दैनिक भास्कर से साभार

भूली-बिसरी ख़बरे