भैंस के आगे बीन बजाकर किसान ने जताया विरोध

किसान आंदोलन : जमीन से जुड़े लोगों के अनोखे तरीके

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसान आंदोलन देश का सबसे बड़ा मुद्दा बना हुआ है. पंजाब, हरियाणा सहित कई राज्यों के किसान दिल्ली बॉर्डर के पास अपनी मांगों को लेकर बैठे हुए हैं, लेकिन यह मुद्दा इन किसानों से होकर अब देशव्यापी बनता जा रहा है. केंद्र की मोदी सरकार इन कानूनों को लेकर बड़े स्तर पर विरोध का सामना कर रही है.

दिल्ली से सटे नोएडा में भी किसान आंदोलन में कई किसान संगठन शामिल हो रहे हैं. सोमवार को यहां पर विरोध-प्रदर्शन का अलग ही अंदाज नजर आया. यहां पर एक शख्स एक भैंस के आगे बीन बजाता हुआ नजर आया. यह दिखाते हुए कि मोदी सरकार का रवैया किसानों की तरह ऐसा ही है.

बता दें कि किसानों की सरकार से अब तक पांच राउंड में बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है. किसानों को डर है कि सरकार के इन कानूनों से मंडी खत्म हो जाएगी, उनकी फसल और आय कॉरपोरेट कंपनियों की मोहताज हो जाएगी और सरकार की ओर से उनकी फसल पर मिलने वाला गारंटीड न्यूनतम समर्थन मूल्य का प्रावधान भी खत्म हो जाएगा, क्योंकि सरकार के इस कानून के क्लॉज़ में MSP का जिक नहीं है.

हालांकि, सरकार बार-बार कह रही है कि किसानों का डर बस डर है और उन्हें भ्रमित किया जा रहा है, लेकिन किसानों का कहना है कि सरकार उन्हें ये सारी बातें लिखित में दे. उनकी और भी कई मांगें और आपत्तियां हैं. कई किसान नेताओं ने कहा है कि सरकार किसानों का जबरदस्ती भला करने पर तुली है, जबकि उन्हें ये कानून नहीं चाहिए.

भूली-बिसरी ख़बरे