किसान आंदोलन : 5 दिसम्बर को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन

हरियाणा खाप-पंचायत का फैसला, सरकार गिरने की चलेगी मुहिम

किसानों ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि यदि तीनों किसान कानूनों को रद्द नहीं किया गया तो वे दिल्ली के रास्ते ब्लॉक कर देंगे। किसानों ने कहा कि 5 दिसंबर को पूरे देश में विरोध प्रदर्शन व पुतला दहन होगा। उधर खाप पंचायत हरियाणा सरकार गिरने की मुहिम शुरू कर रही है।

5 दिसम्बर को देशव्यापी पुतला दहन कार्यक्रम

क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष दर्शन पाल ने विवादित कृषि क़ानूनों को हटाने के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की माँग की है। उन्होंने मोदी सरकार और कॉर्पोरेट घरानों का विरोध करने के लिए पाँच दिसंबर को पूरे भारत में पुतले जलाने का आह्वान भी किया है।

उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों के अलावा पूरे देश के किसान नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया जाए। 5 तारीख़ को पूरे देश में धरना होगा और मोदी सरकार का पुतला दहन किया जायेगा। 7 दिसंबर को राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त खिलाडी और कलाकार सरकार को अवार्ड वापस दे देंगे।

महाराष्ट्र-गुजरात में विरोध तेज

लोक संघर्ष मोर्चा की नेता प्रतिभा शिंदे ने कहा है, ‘हम महाराष्ट्र के हर ज़िले में कल से ही पुतले जलाना शुरू कर देंगे और पाँच दिसंबर को केंद्र के विरोध में गुजरात में भी पुतले फूंके जाएंगे। सरकार के पास आख़िरी मौक़ा है कि वो क़ानूनों को हटाने का फ़ैसला करे वरना आंदोलन बढ़ता जाएगा और सरकार गिर जाएगी।’

भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के अध्यक्ष स्वराज सिंह ने कहा है, ‘हम सड़कों पर नहीं बैठे हैं, प्रशासन ने अवरोधक लगाकर और जवान तैनात करके हमारा रास्ता रोका है। हम इसी जगह को अस्थायी जेल मान लेते हैं। हम जैसे ही रिहा होंगे, दिल्ली जाएंगे।’

खाप का फैसला, हरियाणा सरकार गिरने की चलेगी मुहिम

हरियाणा के जींद जिले में 40 खापों की महापंचायत में खाप ने फैसला लिया कि वो हरियाणा सरकार को गिराने के लिए मुहीम की शुरुआत करेगी। खाप नेताओं ने ऐलान किया कि जिन विधायकों ने सरकार को समर्थन दिया हुआ है उन पर समर्थन वापिस लेने के दबाव बनाया जाएगा।

हर एक खाप इन विधायकों से मुलाकात करेगी। पहले शान्ति से विधायकों से अपील की जाएगी और अगर वो नहीं मानें तो उनकी गांवों में प्रवेश पर रोक लगा दी जाएगी।