इक्वाडोर: पुलिस हिंसा के आरोप में मंत्री को बर्खास्त

पिछले साल के विरोध प्रदर्शनों के दौरान 11 लोग मारे गए 

इक्वाडोर की नेशनल एसेंबली ने सरकार के मंत्री मारिया पाउला रोमो को 24 नवंबर को राजनीतिक सुनवाई के माध्यम से पद से हटा दिया। पक्ष में 104 मतों के गिरने और विरोध में 18 मतों के पड़ने और 12 सदस्यों के अनुपस्थित रहने के बाद विधायिका के सदस्यों ने उनके खिलाफ सेंसर और बर्खास्तगी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

यह प्रस्ताव सोशल क्रिश्चियन पार्टी के विधायिका के सदस्यों रॉबर्टो गोमेज़, लूर्डेस क्यूस्टा और अमापोला नारंजो द्वारा पेश किया गया था जिन्होंने रोमा पर सरकार के नवउदारवादी आर्थिक फैसलों के खिलाफ अक्टूबर 2019 में नागरिकों द्वारा किए गए राष्ट्रीय विरोध के 12 दिनों के दौरान अपने कर्तव्यों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाया था।

अक्टूबर 2019 में हुए प्रदर्शनों के दौरान प्रदर्शनकारियों के खिलाफ राष्ट्रीय पुलिस द्वारा एक्सपायर्ड आंसू गैस के गोले के इस्तेमाल की अनुमति देने के साथ साथ सेल्सियन यूनिवर्सिटी और कैथोलिक यूनिवर्सिटी ऑफ क्विटो में स्थापित शांति और मानवीय सहायता केंद्रों के भीतर इन विस्फोटक उपकरणों के इस्तेमाल को लेकर रोमो को महाभियोग का सामना करना पड़ा। इन स्थानों पर स्थानीय लोग, किसान, छात्र और एक्टिविस्ट प्रदर्शन कर रह रहे थे।

ओम्बुड्समैन कार्यालय के आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर 2019 के विरोध प्रदर्शनों के दौरान पुलिस बल के अत्यधिक इस्तेमाल से 11 मौतें हुईं, 340 लोग घायल हुए और एक हजार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया। इस फैसले को लेकर स्थानीय और छात्र संगठनों कन्फेड्रेशन ऑफ इंजिजेनस नेशनलिटीज ऑफ इक्वाडोर (सीओसीएआईई) और फेडरेशन ऑफ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स ऑफ इक्वाडोर (एफईयूई) ने खुशी जाहिर की। इन संगठनों ने पिछले साल हुए विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया था और रोमो के हटाने का मांग को लेकर प्लेनरी सेशन से एक दिन पहले संसद के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

इक्वाडोर के पूर्व राष्ट्रपति राफेल कोर्रिया ने भी रोमो की बर्खास्तगी पर प्रतिक्रिया दी। कोर्रिया ने एक ट्वीट में लिखा, “मारिया पाउला रोमो को बर्खास्त कर दिया गया! यह एक महिला की छोटी लेकिन जघन्य कहानी थी जिसकी महत्वाकांक्षाओं और दुष्टता की कोई सीमा नहीं थी, जिसे एक अयोग्य देशद्रोही ने पूरी शक्ति दी। आपको अपने अपराधों के लिए वास्तविक न्याय का सामना करना पड़ेगा।” उनके महाभियोग के बाद रोमो को अन्य मामलों के साथ प्रदर्शनकारियों की मौत और नागरिकों के खिलाफ पुलिस की दमनात्मक कार्रवाई में अधिक बल का इस्तेमाल करने के लिए कानूनी प्रक्रिया का सामना करने की संभावना है।

रोमो को हटाए जाने के बाद राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने सरकार के नए मंत्री के रूप में पुलिस जनरल पैट्रीसियो पज़मीनो को नियुक्त किया। रोमो ने 31 अगस्त 2018 को ये पद ग्रहण किया था। उनकी बर्खास्तगी मोरेनो के लिए एक गंभीर राजनीतिक झटके को पेश करता है क्योंकि रोमो को उनका महत्वपूर्ण चेहरा माना जाता था और उनके प्रशासन के सबसे महत्वपूर्ण चेहरों में से एक थी।

भूली-बिसरी ख़बरे