हरियाणा : 26 नवम्बर को शिक्षक भी रहेंगे हड़ताल पर

स्कूलों के निजीकरण के ख़िलाफ़ शिक्षकों का विरोध मुखर

सरकार द्वारा राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक स्कूलों के नाम पर स्कूलों का धीरे-धीरे निजीकरण करने का हरियाणा के शिक्षकों ने विरोध किया है। शिक्षक 23 नवंबर को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करेंगे व 26 नवम्बर के देशव्यापी हड़ताल में शामिल होंगे।

सरकारी शिक्षक तालमेल कमेटी की जिला स्तरीय बैठक में हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ, हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन (हसला), हरियाणा मास्टर वर्ग एसोसिएशन, राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ, हरियाणा राजकीय अनुसूचित शिक्षक संघ, हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघ ने भाग लिया।

बैठक में गैर शैक्षणिक कार्य करवाने और एप आधारित प्रशिक्षण पर विचार विमर्श के बाद सभी शिक्षकों ने एकमत हो राज्य कमेटी के आह्वान पर 23 नवंबर को प्रदर्शन करने का फैसला किया।

अध्यापक सरकार के बहकावे में ना आएं

हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ का जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल गुहला चीका में हुआ। जिसकी अध्यक्षता जिला संगठन सचिव भूपेंद्र सिंह व संचालन जिला सचिव रामपाल शर्मा ने किया।

बैठक में राज्य संगठन सचिव धर्मेंद्र ढांडा, राज्य सचिव सतबीर गोयत व कंवरजीत सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक स्कूलों के नाम पर एक हजार स्कूलों को धीरे-धीरे निजीकरण करने के प्रयास किया जा रहा है। जिसकी संगठन कड़े शब्दों में निदा करता है।

उन्होंने कहा कि सरकार का यह प्रस्ताव अपने आप में विरोधाभासी है एक तरफ सरकार नई शिक्षा नीति में प्राथमिक शिक्षा को मातृभाषा में देने की बात करती है। दूसरी तरफ अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के नाम पर लोगों को बरगलाने का कार्य किया जा रहा है।

प्राथमिक चरण में सरकार द्वारा सभी स्कूलों की प्रॉपर्टी अपने नाम करवाना व दूसरे चरण में एक हजार स्कूलों को राजकीय सांस्कृतिक मॉडल प्राथमिक विद्यालयों के नाम पर लोगों को बरगला कर जबरदस्ती एसएमसी के माध्यम से प्रस्ताव पास करवाए जा रहे हैं।

उन्होंने सभी स्कूलों के मुखिया और अध्यापकों से भी अपील की है कि सरकार के बहकावे में आकर जन शिक्षा को बर्बाद करने में अपना किसी भी तरह का सहयोग न दें। दूसरी तरफ अध्यापकों, विद्यार्थियों और अविभावको पर बेबजह मानसिक दबाब बनाया जा रहा है।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में मंगलवार को देशव्यापी हड़ताल | SamayLive

23 नवम्बर विरोध प्रदर्शन, 26 नवम्बर हड़ताल

संघ ने बताया कि शिक्षा जगत के निजीकरण के विरोध में शिक्षक तालमेल कमेटी के आह्वान पर 23 नवंबर को छुट्टी के बाद जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया जाएगा। कहा कि जन शिक्षा को बचाने के लिए केंद्रीय ट्रेड यूनियनों व कर्मचारी संगठनों के आह्वान पर 26 नवंबर को होने वाली राष्ट्रव्यापी हड़ताल में अध्यापक भी बढ़- चढ़कर भाग लेंगे।

इस मौके पर तरसेम सिंह, शीशपाल शर्मा, बिजेंद्र शर्मा, भूपेंद्र, विक्रम राही, रामपाल गुहला, गुरमीत सिंह, रामफल दयोरा, सरदूल सिंह, बसाऊ राम, भूपेंद्र शर्मा, राजीव सैनी मौजूद रहे।

भूली-बिसरी ख़बरे