राजस्थान : दीपावली से पूर्व बोनस व कटे वेतन की माँग

8 नवम्बर को विधायकों का घेराव व 11 नवम्बर को होगा सत्याग्रह

जयपुर: दीपावली (Diwali 2020) से पूर्व कर्मचारियों को बोनस काटा गया वेतन देने की मांग की. अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने राज्य में कोविड-19 के नाम पर राज्य कर्मचारियों, बोर्ड, निगम, स्वायत्तशाषी संस्थाओं, पंचायतीराज एवं सहकारी संस्थाओं में कार्यरत कार्मिकों के वेतन से माह मार्च 2020 में 16 दिवस के स्थगित वेतन, बिना सहमति प्रतिमाह वसूल की जा रही राशि एवं बोनस का भुगतान दीपावली से पूर्व करने की मांग की है.

महासंघ के प्रदेश महामंत्री तेजसिंह राठौड ने बताया कि महासंघ गत डेढ़ माह से राज्य सरकार द्वारा असंवैधानिक रूप से कर्मचारियों के वेतन वसूली के विरोध में आंदोलनरत है. दीपावली से पूर्व कर्मचारियों को बोनस की घोषणा नहीं करने को लेकर आक्रोशित है, जिसको लेकर महासंघ द्वारा पूर्व में विरोधस्वरूप आगामी 8 नवम्बर 2020 को विधायकों के घेराव एवं 11 नवम्बर 2020 को सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में सत्याग्रह कार्यक्रम निर्धारित है.

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों को बोनस भुगतान के आदेश जारी कर दिये हैं, लेकिन दीवाली नजदीक होने के बावजूद भी राजस्थान सरकार द्वारा बोनस के आदेश जारी नहीं किये जाने से कर्मचारियों में भारी आक्रोस व्याप्त है. ऐसे में उन्होनें राज्य सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि सरकार कर्मचारियों के आक्रोश को कमोत्तर आंकने की भूल ना करें एवं वर्ष 1999, 2000 में थोपे गये आंदोलन को दोहराने की चेष्ठा ना करें समय रहते कर्मचारियों के स्थगित वेतन जारी करने एवं बोनस भुगतान के आदेश प्रसारित करे अन्यथा आने वाले दिनों में कर्मचारियों को बडे आंदोलनों के लिए आगे बढ़ना पडेगा.