26 नवंबर हड़ताल : रोडवेज का भी होगा चक्का जाम

देशव्यापी हड़ताल में हरियाणा रोडवेज संयुक्त मंच का आह्वान

हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी मंच ने 26 नवंबर को होने वाली कर्मचारियों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल का पूरा समर्थन करने और हड़ताल में शामिल होने का निर्णय लिया है। प्रदेश प्रधान दलबीर किरमारा की अध्यक्षता में हुई प्रदेश कार्यकारिणी बैठक में महासचिव आजाद गिल तथा अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

बैठक को संबोधित करते हुए किरमारा ने दावा किया कि केंद्र और प्रदेश सरकार ने कथित तौर पर कर्मचारी, किसान, मजदूर और महिला विरोधी मुहिम छेड़ रखी है और लगातार जनविरोधी निर्णय ले रही है। उन्होंने कहा कि सरकार जनहित के विभागों जैसे रोडवेज, बिजली, पानी, स्वास्थ्य, रेल, टेलीफोन और एयरपोर्ट आदि का निजीकरण कर उन्हें निजी हाथों में सौंपना चाहती है, जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि रोडवेज कर्मचारी 26 नवंबर की राष्ट्रव्यापी हड़ताल में बढ़चढ़ कर भागीदारी लेंगे और रोडवेज का पूर्ण रूप से चक्का जाम किया जाएगा। दलबीर किरमारा और आजाद गिल ने राज्य सरकार से रोडवेज कर्मचारियों की मांगों को लागू करने विभाग का निजीकरण रोकने, 1992 से 2002 के कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से पक्का करने, 4 वर्ष का बकाया बोनस देने, एसीपी का लाभ सभी कर्मचारियों और सभी कैटेगिरी को देने, कोरोना महामारी के कारण मृत्यु का शिकार हुए कर्मचारियों को 50 लाख की बीमा पॉलिसी में शामिल करने, पुरानी पैंशन स्कीम लागू करने, 18 दिन की हड़ताल को लेकर रोडवेज कर्मचारियों सहित दूसरे विभागों और अन्य संगठनों के नेताओं पर दर्ज आपराधिक मामलों को वापस लेने तथा सभी कर्मचारियों की वेतन विसंगति को दूर करने आदि मांगों को पूरा करने की मांग की। 

भूली-बिसरी ख़बरे