महिलाओं के साथ बढ़ते अपराधों के खिलाफ महिला सुरक्षा अभियान

महिला एकता मंच ने जुलूस निकालकर किया प्रदर्शन

रामनगर (नैनीताल)। उत्तर प्रदेश के हाथरस व बलरामपुर गैंगरेप तथा देश में महिलाओं के साथ बढ़ रहे अपराधों के खिलाफ महिला सुरक्षा अभियान के तहत सुंदरखाल के प्राइमरी स्कूल से महिला एकता मंच की महिलाओं ने जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। मंच ने 8 अक्टूबर को नई बस्ती, ग्राम पूछड़ी में भी जुलूस व प्रदर्शन कार्यक्रम का ऐलान किया।

इस दौरान सुंदरखाल स्कूल पर हुई सभा को संबोधित करते हुए महिला एकता मंच की संयोजिका ललिता रावत ने हाथरस की घटना की निंदा करते हुए कहा कि आज हमारे देश की बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है जिससे अपराध बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेशों की सरकारें महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान देने में अक्षम साबित हो रही हैं इसलिए महिलाओं को अपनी सुरक्षा एवं सम्मान के लिए स्वयं ही आगे आना होगा तथा गाँव, शहर व मोहल्लो में सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करना होगा।

दीपा देवी ने कहा कि हमें अपनी व अपनी बेटियों की सुरक्षा के लिए एकजुट होकर आवाज उठानी चाहिए  तभी हम महिलाएँ सुरक्षित रह पाएँगी।

सरस्वती जोशी ने बताया कि महिला सुरक्षा अभियान के तहत महिला एकता मंच के द्वारा रामनगर शहर व मालधन में भी इसी तरह के जलूस-प्रदर्शन आयोजित किये जा चुके हैं तथा इसकी अगली कड़ी में 8 अक्टूबर को नई बस्ती, ग्राम पूछड़ी में भी महिला एकता मंच से जुड़ी महिलायें जुलूस व प्रदर्शन कार्यक्रम का आयोजन करेंगी।

मंच की कौशल्या चुनियाल ने अपील की है कि जो भी महिलाएँ महिला सुरक्षा अभियान की इस मुहिम से जुड़ना चाहतीं हैं वह महिला एकता मंच से संपर्क कर सकती हैं।

जुलूस व प्रदर्शन कार्यक्रम में नीमा, आशा, विमला देवी, गीता, कमला देवी, पुष्पा देवी, गौरा देवी, चंपा देवी, कौशल्या देवी, भगवती, तुलसी, प्रभात ध्यानी, इंद्रजीत, लोकेश कुमार, महेश जोशी, ललित उपरेती, किशन शर्मा, योगेश सती, दीवान कुमार, प्रेम राम, मुनीष कुमार समेत बड़ी संख्या में महिलाओं ने भागीदारी की।

भूली-बिसरी ख़बरे